Friday, September 24, 2021

 

 

 

तेजस्वी यादव ने विपक्षी नेताओं को लिखी चिट्ठी – बदनाम करने वाले न्यूज चैनलों का करे बहिष्कार

- Advertisement -
- Advertisement -

राष्ट्रीय जनता दल के नेता और बिहार विधानसभा में नेत प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने विपक्षी दलों के नेतोओं के एक चिट्ठी लिखकर ऐसे टीवी चैलनों का बहिष्कार करने की अपील की जो भाजपा के प्रति सहानुभूति दिखाते हुए विपक्ष को बदनाम करने की मुहिम चला रहे है। राजद नेता ने विपक्षी नेताओं से आग्रह किया कि वे न्यूज चैनलों के इस अभियान के खिलाफ ‘एकजुट और सामूहिक’ रुख अपनाएं।

पत्र को अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा करते हुए कहा, ‘‘साथियों! एक तरफ जहां हम भुखमरी, बेरोजगारी, किसान और सामाजिक न्याय से जुड़े मुद्दे उठा रहे हैं वहीं मुख्यधारा की मीडिया का एक बड़ा वर्ग भाजपा मुख्यालय द्वारा तय एजेंडे के तहत इन सरोकारों पर पर्दा डाल रहा है। आइए हम सामूहिक रूप से उन चैनलों का बहिष्कार करने का निर्णय लें….”

राजद नेता ने अपने पत्र में लिखा है, ‘मैं आप सबको ये पत्र कई न्यूज चैनलों पर शाम के वक्त होने वाली बहस को लेकर लिख रहा हूं। जैसा कि आप जानते हैं इन चैनलों पर हर रोज शाम के वक्त एक खास उद्देश्य के तहत विपक्षी पार्टियों को बदनाम करने का कुचक्र रचा जाता है, ऐसे में अब ये एक प्रत्यक्ष सत्य है कि मीडिया का एक बड़ा तबका भाजपा को चुनावी फायदा पहुंचाने के लिए काम कर रहा है।’

उन्होंने लिखा, ‘किसी भी बहस में इस बात की उम्मीद की जाती है कि विपक्षी पार्टियां भी किसी मुद्दे पर अपनी राय रख सकेंगी। लेकिन जिस तरह से बहस को आगे बढ़ाया जाता है, उसमें साफ दिखता है कि उनका झुकाव सिर्फ एक पार्टी को फायदा पहुंचाने की तरफ है।’

तेजस्वी ने लिखा, ‘ऐसे हालात में मुझे नहीं लगता है कि इन न्यूज चैनलों पर निष्पक्ष बहस की कोई गुंजाइश भी बची है। इन बहसों में विपक्षी नेताओं की मौजूदगी सिर्फ इस वजह से रखी जाती है, जिससे कि वे अपनी झूठ पर फर्जी विश्वसनीयता का पर्दा डाल सकें। मुझसे कई सीनियर पत्रकारों ने भी कहा है कि ऐसे चैनलों में पत्रकारिता के मानदंडों को पूरी तरह से ताक पर रख दिया गया है।’

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर तेजस्वी के इस पत्र को साझा किया है। भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद ने तेजस्वी के ट्वीट के जवाब में कहा, ‘वो दिन भी याद कर लेना चाहिए जब सरकारी प्रसारक को ‘इंदिरा दर्शन’ और ‘राजीव दर्शन’ के नाम से देश की जनता पुकारती थी। इमरजेंसी के दौरान मीडिया पर प्रतिबंध याद है न? मीडिया को अपना काम करने दें।’

तेजस्वी ने इस पत्र की कॉपियां यूपी में बीजेपी की सहयोगी ओमप्रकाश राजभर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव, शरद पवार, सीताराम येचुरी, एचडी देवगौड़ा, दीपांकर भट्टाचार्य, अजीत सिंह, उपेंद्र कुशवाह, बदरुद्दीन अजमल, असदुद्दीन ओवैसी, जीतन राम मांझी, हेमंत सोरेन, ओमप्रकाश चौटाला और बाबू लाल मरांडी को भी भेजी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles