hjjkklk

पटना | नोट बंदी के फैसले के बाद से सरकार और आरबीआई ने 59 बार नियम बदले है. जिसकी वजह से लोगो को बैंक में पहुँच कर ही नये नियमो के बारे में पता चलता है. मसलन सरकार ने नया आदेश जारी किया है की 5000 से अधिक के पुराने नोट एक बार में ही बैंक में जमा करने होंगे. इस नियम को लागू करने के लिए बैंकों ने एक फॉर्म निकाला है जिसमें पुछा गया है की आपने अभी तक पुराने नोट जमा क्यों नही किये?

बैंक इस फॉर्म को भरने के बाद ही पुराने नोट जमा कर रहे है. हालाँकि सरकार ने इस फॉर्म की अनिवार्यता तभी की है जब पुराने नोट 5000 से अधिक हो लेकिन कुछ बैंक 500 रूपए के लिए भी फॉर्म भरवा रहे है और पूछ रहे है की आपने अभी तक पैसे जमा क्यों नही किये. पहले आरबीआई का एक सर्कुलर जारी होता है. थोड़ी देर बाद सरकार उसमे थोडा संसोधन करती है. लेकिन बैंक अपने बनाए नियम लोगो पर थोप रहे है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बार बार नियम बदलने की वजह से मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर है. बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने एक ट्वीट कर बताया की उन्होंने भी बैंक में पुराने नोट जमा किये है. इस ट्वीट में तेजस्वी ने बैंक फॉर्म की एक फोटो पोस्ट की है. यह वही फॉर्म है जो बैंक पुराने नोट जमा करने पर लोगो से भरवा रहे है. इस फॉर्म में एक जगह पुछा गया है की आपने अभी तक पुराने नोट जमा क्यों नही किये.

इसके जवाब में तेजस्वी यादव ने फॉर्म में लिखा की नोट बंदी के समय मोदी जी ने कहा था की 30 दिसम्बर तक पुराने नोट बैंकों में जमा किये जायेंगे. आज 20 दिसम्बर है और मैं मोदी जी पर भरोसा करता हूँ इसलिए अभी तक पैसे जमा नहीं किये थे. इसी ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा की पीएमओ नही जानता की सरकार क्या कर रही है. ऐसा लगा रहा जैसे देश भगवान् भरोसे चल रहा हो.

Loading...