भारतीय जनता पार्टी के नेता संगीत सोम द्वारा विश्व प्रसिद्ध इमारत ताज महल को उसके इस्लामिक इतिहास के चलते निशाना बनाए जाने को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ‘वो दिन दूर नहीं जब बीजेपी देश का नाम बदलने की भी कोशिश करेगी. अगर बीजेपी ने देश का नाम बदल दिया तो हम कहां रहेंगे.’

ममता ने कहा, ‘भारतीय संस्कृति और धरोहर को बर्बाद करना बीजेपी का सोचा-समझा पॉलिटिकल एजेंडा है.’ उन्होंने कहा, ‘मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय स्टेशन करने वाली बीजेपी ने ताज महल को क्यों छोड़ दिया, उसका नाम क्यों नहीं बदला?

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, बीजेपी इस तरह की बयानबाजी कर देश की जनता को बांटना चाहती है. ‘यह बेहतर होगा कि हम बीजेपी नेताओं के बारे में कम बात करें. ममता ने सवाल उठाया, ‘बीजेपी कैसे कह सकती है कि ये इमारत हिंदू ने बनाई है, ये इमारत मुस्लिम ने बनाई है. भारत में सभी धर्म-जाति के लोग रहते हैं. बीजेपी लोकतंत्र नहीं बल्कि एकतंत्र में विश्वास रखती है.’

ध्यान रहे बीजेपी नेता संगीत सोम ने कहा है कि ताजमहल भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा है. उन्होंने इतिहास का भगवाकरण करते हुए कहा कि 17वीं शताब्दी में संगमरमर की यह इमारत बनवाने वाले शाहजहां ने अपने पिता को जेल में डाल दिया था और वह देश से हिंदुओं का नामो निशान मिटा देना चाहता था.

साथ ही उन्होंने यूपी के पूर्व मंत्री आजम खां द्वारा बनवाई गई जौहर यूनिवर्सिटी आतंकवादियों का अड्डा है. ध्यान रहे इंडियन आर्मी ने देशसेवा के जज्बें को ध्यान में रखते हुए यूनिवर्सिटी को आर्मी टैंक तोहफें में दिया.