सहारनपुर: गुरुवार को सहारनपुर में एक रैली के दौरान ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख और सांसद असद्दुदीन ओवैसी ने खादी और ग्रामोद्योग आयोग के कैलेंडर और डायरी पर महात्मा गांधी की जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर छापे जाने को लेकर प्रधानमंत्री पर हमलावर होते हुए कहा कि अगर ताजमहल और लालकिला पहले नहीं बने होते तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनको बनवाने का श्रेय भी खुद ही ले लेते.

ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने महात्मा गांधी की चरखे वाली तस्वीर पर अपनी फोटो लगा कर ‘नरेंद्र बापू’ बनने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि अगर आगरा के ताजमहल और दिल्ली के लालकिले का निर्माण सालों पहले नहीं हुआ होता…तो मोदी जी उसके निर्माण का भी श्रेय ले लेते. उन्होंने कहा कि पहले चरखे पर बापू होते थे और अब तो चरखे पर भी नरेंद्र मोदी। इस दौरान उन्होंने उन्हें नरेंद्र बापू कहकर पुकारा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने आरोप लगाया कि चाहे बेरोजगारो को नौकरी देनी हो, कीमतों में कमी आना हो, बाहर के बैंकों से कालाधन को वापस लाना हो, दहशतगर्दी समाप्त करना हो.यही नहीं 500 और 1000 के नोटो को बंद कर अमीरों को तकलीफ और गरीबो को फायदा देने का मामला हो. किसी भी वायदे को प्रधानमंत्री ने पूरा नहीं किया.

लोकसभा सांसद ने मोदी और अखिलेश को एक ही बताते हुए कहा,उत्तर प्रदेश का किसान बेहाल है लेकिन सैफई में हर साल में नाचगाना होता है. इलाज के अभाव में प्रदेश में मासूम बच्चे जहां दम तोड़ते हैं, वहीं अखिलेश के शेरों के इलाज के लिए लंदन से डॉक्टर बुलाए जाते हैं.

उन्होंने आगे कहा, अखिलेश साइकिल मिलने पर बच्चों की तरह खुश हो रहे है. आतिशबाजी हो रही है, मिठाई खिलाई जा रही है, जिस पापा ने अखिलेश को साइकिल पर बैठाया उसी पापा से साइकिल ले ली. साढे चार वर्ष में अखिलेश ने उत्तर प्रदेश का कौन सा विकास किया जो भी विकास किया वह अपने कुनबे का किया.

Loading...