नई दिल्ली | विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार को सदन में विपक्ष के आतंकवादी हमलो से सम्बंधित सवालों के जवाब दिए. इसके अलावा उन्होंने विदेश नीति के बारे में भी जानकारी दी. इस दौरान उन्होंने बेहद ही तीखे अंदाज में विपक्ष के सवालों के जवाब दिए. अब इस मामले में कांग्रेस ने सुषमा स्वराज पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा की हम इस मुद्दे पर विशेषाधिकार हनन का नोटिस लेकर आयेंगे.

दरअसल गुरुवार को सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला के एक भाषण का जिक्र करते हुए कहा की घाटी में आतंकी बुरहान वाणी के एनकाउंटर के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तो में तनाव बढ़ा. इसके अलावा सुषमा ने कहा की बानडुंग एशिया अफ्रीका संबंधों पर हुए सम्मेलन में उन्होंने कोई भाषण देने का मौका ही नही मिला. जबकि विपक्ष का आरोप था की सुषमा ने वहां भाषण दिया और पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु का जिक्र नही किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शुक्रवार को कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा की सुषमा ने सदन में झूठ बोलकर सदन को गुमराह किया. उन्होंने बानडुंग एशिया अफ्रीका संबंधो पर हुए सम्मलेन में भाषण दिया था. इसके अलावा आनंद शर्मा ने सुषमा के उस बयान को भी झूठा करार दिया जिसमे उन्होंने कहा की आतंकी बुरहान वाणी के एनकाउंटर के बाद ही दोनों देशो के रिश्तो में बिगाड़ आया.

उन्होंने कहा की बुरहान वाणी के एनकाउंटर से पहले पठानकोट पर आतंकी हमला हुआ. इसके अलावा भी 9 आतंकी हमले हुए. कांग्रेस का यह भी आरोप है की सुषमा ने सदन को यह भी बताया की जब प्रधानमंत्री मोदी , नवाज शरीफ से लाहौर में मिले तो दोनों प्रधान अध्यक्षों के बीच क्या क्या बाते हुए. इसलिए कांग्रेस सुषमा के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस लेकर आएगी. बताते चले की चाइना भी सुषमा पर डोकलाम सीमा विवाद पर झूठ बोलने का आरोप लगा चूका है.

Loading...