विदेश मंत्री और भाजपा नेता सुषमा स्वराज ने गुरुवार को कहा कि फरवरी में पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए हवाई हमले में किसी भी पाकिस्तानी सैनिक या नागरिक की मौत नहीं हुई।

स्वराज ने कहा कि आत्म रक्षा में हवाई हमले को अंजाम दिया गया था। उन्होंने कहा, ‘पुलवामा हमले के बाद जब हमने सीमा पार हवाई हमला किया तो हमने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को बताया कि हमने केवल आत्म रक्षा में ऐसा कदम उठाया है।’ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है, पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना की एयरस्ट्राइक का मकसद जैश-ए-मोहम्मद को निशाना बनाना था। इस जवाबी हमले में कोई भी पाक सैनिक या नागरिक नहीं मरा।

भाजपा महिला कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए स्वराज ने कहा भारतीय एयर स्ट्राइक के बारे में हमने विश्व समुदाय को बताया कि यह सिर्फ आत्मरक्षा में उठाया गया कदम था। शस्त्रबलों को पाकिस्तानी नागरिक या सैनिकों को नुकसान न पहुंचाने के निर्देश दिए गए थे और हमारी सेना ने भी ऐसा ही किया। एयर स्ट्राइक पर समूचे विश्व समुदाय ने भारत का समर्थन किया।

अहमदाबाद में पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री ने जोर देकर कहा कि 2014 की तरह इस बार भी भाजपा की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनेगी। यह भी कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जो चाहते थे वह सब नहीं कर सके। इसका कारण यह था कि उस समय वह गठबंधन प्रशासन चला रहे थे।

विदेश मंत्री ने पूर्ण बहुमत की सरकार पर जोर देते हुए अटल बिहारी वाजपेयी सरकार को याद किया। स्वराज ने कहा, ‘वाजपेयी देश के लिए बहुत कुछ करना चाहते थे पर गठबंधन सरकार के कारण ऐसा नहीं कर सके। वहीं प्रधानमंत्री मोदी पूर्ण बहुमत की सरकार के कारण ही पांच साल में इतना सब कार्य कर पाए। अगर मोदी भी गठबंधन सरकार चला रहे होते तो दबाव में होते।’ स्वराज ने कहा, यह अंतर उन्हें मालूम है, क्योंकि वे दोनों सरकारों में मंत्री रही हैं।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें