नीतीश कुमार द्वारा अचानक बिहार के सीएम पद से इस्तीफा देना और अगले ही पल बीजेपी की मदद से फिर से मुख्यमंत्री बन जाने को लेकर लेफ्ट ने नीतीश के इस व्यवहार को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है.

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने नीतीश पर हमला करते हुए कहा कि जो बीजेपी का समर्थक है वो अल्पसंख्यकों और दलितों पर अत्याचार का भी समर्थक है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘जो भी बीजेपी के समर्थन में है वह अल्पसंख्यकों को पीट-पीटकर मार डालने का भी समर्थक है, दलितों के खिलाफ अत्याचार, किसानों को खुदकुशी के लिए मजबूर करने और युवाओं को बेरोजगार बनाने का समर्थक है.

नीतीश के इस्तीफें पर पीएम मोदी की और तारीफ़ किये जाने और इस्तीफें को भ्रष्टाचार की लड़ाई में त्याग बताने को लेकर भी येचुरी ने पीएम मोदी की आलोचना की. उन्होंने कहा, ‘ओह वाकई! व्यापम, सहारा-बिड़ला डायरी, जीएसपीसी, ललित मोदी, चावल घोटाला, उद्योगपतियों के हाथों फंसे बैंकों के कर्जों की माफी और लोकपाल भी नहीं. यह भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में आपकी प्रतिबद्धता है.’

गौरतलब रहें कि इस्तीफा देने के चंद मिनिट बाद धानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके नीतीश कुमार को बधाई देते हुए कहा था कि भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत-बहुत बधाई. सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें