चीन के साथ बढ़ते गतिरोध पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने अपनी ही सरकार से  श्वेत पत्र लाने की मांग की मांग करते हुए कहा कि सिर्फ युद्ध ही अंतिम समाधान है।

स्वामी ने ट्वीट किया, “चीन के साथ जारी तनातनी पर श्वेत पत्र जारी करने में क्या परेशानी है? परेशानी हमारी वर्तमान स्थिति के बारे में है जो कि एक नई यथास्थिति (status quo) बनने जा रही है। केवल युद्ध ही अब इस यथास्थिति में बदलाव कर सकता है। क्या भारत युद्ध के लिए तैयार है?”

बता दें कि श्वेत पत्र किसी देश की सरकार द्वारा तब लाया जाता है जब किसी ख़ास मुद्दे पर विस्तार से ब्यौरा लेना हो। भारत और चीन के बीच बढ़े तनाव और बॉर्डर पर बने हुए गतिरोध को देखते हुए भाजपा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने भारत सरकार से श्वेत पत्र जारी करने की मांग की है।

पांच माह से लद्दाख में भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं। गल्वान घाटी में हुई दोनों देशो की सेनाओं की हिंसक झड़प में भारत के पाँच सैनिक भी शहीद हो चुके है। ऐसे में अब भाजपा सांसद ने आशंका जतायी है कि सीमा पर दोनों सेनाओं की जो अब तैनाती है, हो सकता है कि वो ही नई यथास्थिति में तब्दील हो जाए।

वहीं दूसरी और विपक्षी दल कांग्रेस का भी कहना है कि “सरकार को चीन के साथ बात करनी चाहिए और यथास्थिति बहाल करनी चाहिए। लेकिन अब बात करने के लिए क्या है? चीन को इलाका छोड़ने के लिए पत्र लिखें अगर चीनी ऐसा नहीं करते हैं तो वहां सेना भेजकर इलाका खाली करा लें। कोई बातचीत नहीं।”

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano