जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि देश ने जम्मू कश्मीर को मुश्किल हालात से निपटने के लिए अकेला छोड़ दिया है.

64वें इंडियन ट्रैवल कांग्रेस को संबोधित करते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा, ‘आप दुनिया पर नजर डालें, तो हर जगह समस्या दिखती है. लेकिन यहां समस्या यह है कि हमारे मुल्क ने ही हमें अकेला छोड़ दिया है.’

उन्होंने कहा, ‘कश्मीर में हालात से निपटने के लिए कई रास्ते हैं, लेकिन हम केवल एक ही तरीका अख्तियार कर रहे हैं. हम बंदूक के बदले बंदूक से लड़ रहे हैं. लेकिन जिन लोगों को बंदूकों से गोलियां लगी हैं, उनका भी तो उपचार करने वाला कोई होना चाहिए. हमारे देश के लोग ऐसा कर सकते हैं.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि बंदूक से जो जख्म लग रहे हैं उस पर मलहम भी तो करना चाहिए. यदि कोई मलहम लगा सकता है तो वह देश की जनता है. उन्होने कहा कि यहां जितने लोग आएंगे उनका हर कदम जम्मू कश्मीर की शांति में निवेश होगा.

मीडिया पर भड़कते हुए उन्होंने कहा, हम यहां बैठे हैं और कहीं दूर एनकाउंटर हो रहा है तो ऐसा दिखाया जाता है कि खुदा न खास्ता पूरा जम्मू कश्मीर जल रहा है. इससे अन्य राज्यों के लोग यहां आने से कतराने लगते हैं। टीवी चैनलों ने ऐसी छवि बना दी है कि पूरा कश्मीर जल रहा है.

उन्होंने कहा कि उन्हें यह कहने में तनिक भी झिझक नहीं है कि यह महिलाओं के लिए देश में सबसे सुरक्षित जगह है. सब लोग अपने परिवार को लेकर आएं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें