कर्नाटक संकट में स्पीकर ने लिया ये बड़ा फैसला, कांग्रेस-जेडी(एस) को मिली राहत

7:44 pm Published by:-Hindi News

कर्नाटक में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने कांग्रेस के 13 बागी विधायकों में से 8 विधायकों के इस्तीफे को नामंजूर कर दिया है।उन्होने कहा कि इन विधायकों के इस्तीफे कानूनन तौर पर सही नहीं है।

इसी बीच कार्नाटक में भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) का एक दल स्पीकर से मिलने उनके चैंबर में पहुंचा था, लेकिन विधानसभा स्पीकर ने मिलने से मना कर दिया। बीजेपी के विधायक दल का कहना है कि हमें स्पीकर की ओर से एक संदेश मिला कि स्पीकर आज दफ्तर नहीं आ रहे हैं। इसके बाद विधायक दल को वापस जाना पड़ा।

कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष केआर रमेश कुमार ने राज्यपाल को लिखा है कि कोई भी बागी विधायक मुझसे नहीं मिला है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि मैं संवैधानिक मानदंडों को बनाए रखूंगा। 13 इस्तीफों में से 8 कानून के अनुसार नहीं हैं। मैंने उन्हें अपने सामने खुद को पेश करने का समय दिया है।

उनका ये भी कहना है कि नियमों में यह स्पष्ट लिखा है कि अगर अध्यक्ष को लगता है कि इस्तीफा स्वैच्छिक और तर्कसंगत है तो वो फैसला ले सकता है। यदि ऐसा नहीं है तो…लेकिन वो इससे ज्यादा नहीं जानते हैं।

कर्नाटक के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया का कहना है कि इस्तीफा देने वाले विधायक एंटी डिफेक्शन लॉ के तहत आते हैं और उन्हें अयोग्य ठहराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई भी विधायक इस्तीफा दे सकता है लेकिन वो स्वैच्छिक और न्यायसंगत होना चाहिए। स्पीकर योग्य हैं और वो सही फैसला लेंगे। सिद्धारमैया ने कहा कि कांग्रेस के बागी विधायकों को अयोग्य ठहरा कर उन्हें उचित सजा भी दी जानी चाहिए ताकि वो अगले 6 साल के लिए चुनाव न लड़ सकें।

वहीं बीजेपी की कद्दावर नेता शोभा करंदलाजे का कहना है कि अब ये सच है कि कांग्रेस-जेडीएस सरकार अल्पमत में है। उनके पास सिर्फ 103 विधायकों का समर्थन है जबकि बीजेपी के पास 107 विधायक हैं। उन्हें लगता है कि राज्यपाल को बीजेपी को सरकार बनाने के लिए न्यौता भेजना चाहिए।

Loading...