meem

कांग्रेस नेता मीम अफजल ने राहुल गांधी का मजाक बनाने को लेकर कहा कि प्रधानमंत्री को राहुल गांधी पर इस प्रकार निशाना नहीं साधना चाहिए.

उन्होंने आगे कहा कि अगर मोदी को कांग्रेस का मजाक उड़ाने में मजा आता है तो शायद प्रधानमंत्री को कोई गलतफहमी हुई है, शायद उन्हें पता नहीं है कि देश में अभी तक जितना भी विकास हुआ है वह कांग्रेस के समय में ही हुआ है. अफजल ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री मोदी उसी दर्जे की भाषा का इस्तेमाल कर रहे है जैसी भाषा उनके चेले-चपेटे सोशल मीडिया पर करते है, इससे वह अपने स्टेटस को ही गिरा रहे है.

इसके अलावा कांग्रेस महासचिव बीके हरिप्रसाद ने भी प्रधानमंत्री को निशाने पर लेते हुए कहा कि  बौखलाहट में प्रधानमंत्री जिस भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं वह प्रधानमंत्री की नहीं बल्कि एक कॉमेडियन की भाषा है राहुल सीख रहे हैं या सीख गए हैं यह कांग्रेस का अपना मामला है प्रधानमंत्री को कुछ सीखने की जरूरत है. प्रधानमंत्री की भाषा और व्यवहार क्या होना चाहिए.

उन्होंने आगे कहा, अब गुजरात मॉडल की बात क्यों नहीं करते चुनाव जीतना ही सब कुछ नहीं होता चुनाव तो फूलन देवी भी जीती थी अगर मोदी जी इतने दूध के धुले हैं सत्यवादी हरिश्चंद्र के पड़ोसी हैं तो उनपर जो राहुल जी ने आरोप लगाए हैं उनकी जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एसआईटी से करवा लेनी चाहिए वह राहुल जी की बातों का जवाब नहीं दे रहे उल्टे डॉ मनमोहन सिंह सरीखे व्यक्ति पर आरोप लगा रहे हैं. मैं फिर कहूंगा यह भाषा किसी प्रधानमंत्री की नहीं एक कॉमेडियन की है जापान में वह कहते हैं कि उनके खून में व्यापार है तो इस देश को व्यापारी प्रधानमंत्री नहीं चाहिए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें