लखनऊ | चुनाव नजदीक आते ही दलबदलू सक्रीय हो जाते है. टिकेट न मिलने की नाराजगी और सत्ता का समीकरण बिगड़ता देख कुछ नेता अपना दल छोड़कर विपक्षी दल में चले जाते है. नेताओ की इस दल बदल की वजह से सबसे ज्यादा मुश्किल में पार्टी कार्यकर्ता रहते है. इनको समझ नही आता की कल तक जिस नेता के विरोध में नारे लगा रहे थे आज उसी नेता के लिए ‘मेरा नेता कैसा हो’ जैसे नारे लगाने पड़ेंगे.

अब उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले है तो यहाँ भी दल बदलुओ का दौर चल रहा है. बीजेपी नेता एसपी सिंह ने आज बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया. उन्होंने अपने पुरे कुनबे के साथ समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर कई संगीन आरोप लगाए. हालाँकि अब तो यह परिपाटी बन चुकी है की विरोधी पार्टी ज्वाइन करते समय अपनी पुरानी पार्टी की काफी बुराईया भी करनी है.

इसी परम्परा को दोहराते हुए एसपी सिंह ने बीजेपी पर टिकेट बेचने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा की बसपा में तो केवल एक ही दरवाजा है लेकिन बीजेपी में तो कदम कदम पर दरवाजा है.यहाँ हर व्यक्ति पैसा मांगता है. एसपी सिंह ने बीजेपी सांसद साक्षी महाराज के एक प्रतिनिधि पर पैसा मांगने का आरोप लगाया. यही नही उन्होंने खनन माफिया और बड़े व्यापारी कुलदीप सेंगर का नाम लेकर कहा की उन्होंने टिकेट के लिए 2 करोड़ रूपए दिए है.

लखनऊ में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम की उपस्थिति में एसपी सिंह ने अपने कई समर्थको के साथ समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली. उनके साथ उनकी पत्नी और विधान परिषद् सदस्य कांति सिंह पटेल, एसपी के पूर्व राष्ट्रीय सचिव धर्मवीर सिंह, पूर्व एमएलसी विशाल वर्मा और नन्हू वर्मा भी एसपी में शामिल हुए. इस दौरान एसपी सिंह ने अमित शाह की और इशारा करते हुए कहा की गुजरात से आये लोग चुनावो में पैसे लेकर टिकेट बाँट रहे है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें