आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गठबंधन का आधिकारिक ऐलान हो गया। दोनों ही दल 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे दो सीटें अन्य पार्टियों के लिए छोड़ी हैं, जबकि अमेठी और रायबरेली सीट कांग्रेस के लिए शेष रखी है।

Loading...

समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के बीच हुए गठजोड़ से भाजपा में खलबली मच गई है। खुद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी बैचेन हो गए हैं। अपनी प्रतिक्रिया में उन्होंने कहा कि भाजपा के खिलाफ आगामी लोकसभा चुनावों के लिए विपक्षी दलों का कोई भी महागठबंधन अराजकता, भ्रष्टाचार और राजनीतिक अस्थिरता लेकर आएगा।

योगी ने कहा, “जो लोग एक-दूसरे को पसंद नहीं करते हैं, वे महागठबंधन के बारे में बातें कर रहे हैं। यह गठबंधन भ्रष्टाचार, अराजकता और राजनीतिक अस्थिरता के लिए है।” योगी ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों में भाजपा 2014 के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन करेगी और मोदी के नेतृत्व में एक बार फिर एक “मजबूत एवं सक्षम” सरकार बनाएगी।

बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि बसपा और सपा एक दूसरे पर आरोप लगाते थे, लेकिन अब वह साथ आ गए। समय आ गया है जब देश को यह तय करना होगा कि उसे एक मजबूत सरकार चाहिए या फिर मजबूर सरकार चाहिए। अगर सभी विपक्षी पार्टियां भी एक मंच पर आ जाएं तो भी भाजपा को दोबारा सत्ता में आने से नहीं रोक सकती है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें