बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने केराना जाने के लिए भाजपा नेता संगीत सोम की निर्भय यात्रा और उसके जवाब में सपा नेता अयुल्य प्रधान की ‘सद्भावना यात्रा’ को आपसी मिलीभगत बताते हुए कहा कि इसका मकसद आगामी विधानसभा चुनाव से पहले सांप्रदायिक दंगे कराकर चुनावी लाभ उठाना है.

उन्होने आगे कहा कि कैराना से कथित पलायन के मामले को भाजपा सांप्रदायिक रंग देने के साथ-साथ उसका गलत राजनीतिक लाभ उठाने के लिए काफी जोर लगाए हुए हैं लेकिन सपा सरकार भी राजधर्म को भूलकर ऐसे तत्वों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मायावती ने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा भड़काने का काम करने वालों के खिलाफ तत्काल सख्त कार्रवाई की जाए। वरना उत्तर प्रदेश एक बार फिर सांप्रदायिक दंगे की आग में जलेगा। इसकी पूरी जिम्मेदारी सपा और उसकी सरकार की होगी।