Saturday, July 24, 2021

 

 

 

नोटबंदी को सोनिया ने बताया तुगलकी फरमान तो राहुल बोले – डीमोनेटाइजेशन डिजास्टर’

- Advertisement -
- Advertisement -

नोटबंदी के तीन साल पूरे होने पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। बयान जारी कर उन्होने कहा कि आज ‘नोटबंदी के तुगलकी अराजकता’ की तीसरी वर्षगांठ है, जो एक अत्याचारी सरकार द्वारा अपने ही लोगों की आजीविका पर किए गए हमले से प्रेरित था।

कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि उनकी पार्टी यह सुनिश्चित करेगी कि देश मोदी सरकार के इस फैसले को न तो कभी भूले और न ही इसके लिए उसे कभी माफ करे। गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री और उनके सहयोगियों ने इस गलत फैसले की कभी जिम्मेदारी नहीं ली जिसने 120 से अधिक लोगों की जान ले ली और यह भारत के मध्यम और छोटे व्यापार को तबाह करने वाला साबित हुआ।

वहीं राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘नोटबंदी आतंकी हमले को तीन साल गुजर गए हैं जिसने भारतीय अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया, कई लोगों की जान ले ली, कई छोटे कारोबार खत्म कर दिए और लाखों भारतीयों को बेरोजगार कर दिया।’’ उन्होंने हैशटैग ‘डीमोनेटाइजेशन डिजास्टर’ का उपयोग करते हुए कहा कि इस ‘‘खतरनाक हमले’’ के लिए जिम्मेदार लोगों को अब तक सजा नहीं मिली है।

नोटबंदी पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा, “ नोटबंदी को तीन साल हो गए, सरकार और इसके नीमहक़ीमों द्वारा किए गए ‘नोटबंदी सारी बीमारियों का शर्तिया इलाज’ के सारे दावे एक-एक करके धराशायी हो गए, नोटबंदी एक आपदा थी जिसने हमारी अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी, इस ‘तुग़लकी’ कदम की जिम्मेदारी अब कौन लेगा?”

कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा और उन्हें ‘‘आज का तुगलक’’ कहा। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सुल्तान मोहम्मद बिन तुगलक ने 1330 में देश की मुद्रा को अमान्य करार दिया था। आज के तुगलक ने भी आठ नवंबर, 2016 को यही किया था।’’

बता दें कि आठ नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए 500 और 1000 रुपये के नोटों के प्रचलन से बाहर किए जाने की घोषणा की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles