गुडगाँव | उत्तर प्रदेश में अवैध बूचडखानो पर हो रही कार्यवाही का असर बाकी राज्यों में भी देखने को मिल रहा है. खासकर बीजेपी शासित राज्यों में भी बूचडखानो पर कार्यवाही की मांग उठने लगी है. हालाँकि बूचडखानो पर कार्यवाही करने का पूरा अधिकार सरकार और प्रशासन को है लेकिन लगता है की हरियाणा में प्रशासन से लेकर सरकार तक , सभी की जिम्मेदारी शिवसैनिको ने संभाल ली है.

ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योकि बुधवार को गुडगाँव में शिवसैनिको की खूब गुंडागर्दी देखने को मिली और प्रशासन आँखे बंद कर तमाशा देखता रहा. यहाँ शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने गुंडागर्दी दिखाते हुए 500 मीट एवं चिकन की दुकाने बंद करा दी. इनमे मल्टी नेशनल फ़ूड चैन केऍफ़सी भी शामिल है. इस दौरान शिवसेना ने एक नोटिस भी जारी किया जिसमे दुकानदारों को चेतावनी जारी की गयी.

इस नोटिस में लिखा गया था की सभी चिकन और मीट की दुकानों से आग्रह किया जाता है की वो नवरात्रि के दौरान और हर मंगलवार अपनी दुकाने बंद रखे. ऐसा न करने पर पुलिस और सामाजिक संगठन उचित कार्यवाही करेगी. कृप्या सहयोग करे. इस नोटिस में शिवसेना के लोकल लीडर ऋषिराज के हस्ताक्षर है. धमकी के कुछ देर बाद ही करीब 200 शिवसैनिक ओल्ड गुडगाँव पहुंचे और जबरदस्ती दुकाने बंद कराने लगे.

बंद हुई दुकाने के कुछ मालिको का कहना है की शिवसैनिको से पहले पुलिस भी उनके पास आई थी और दुकाने बंद करने के लिए कहा था. बाद में शिवसैनिको ने दुकाने बंद करा दी. हालाँकि पुलिस के शाम के समय आकर वापिस सभी दुकाने खुलवाई भी है. मामला बढ़ता देखा शिवसेना ने इस कार्यवाही से अपने आप को अलग कर लिया. जबकि पुलिस का कहना है की उनकी तरफ से ऐसा कोई भी निर्देश नही दिया. हम मामली की जांच कर रहे है और सभी आरोपियों के खिलाफ जल्द कार्यवाही की जाएगी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?