shivr

मध्यप्रदेश में हार का मुंह देखने के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मीडिया से मुखातिब होकर बीजेपी की हार के लिए पूरी तरह खुद को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा है कि वे हरा-भरा प्रदेश सौंप रहे हैं। अब कांग्रेस की जिम्मेदारी है कि वह इसे आगे ले जाए।

शिवराज ने कहा, “मैंने मुख्यमंत्री बनकर नहीं बल्कि परिवार का सदस्य बनकर सरकार चलाने की कोशिश की। साढ़े सात करोड़ मध्यप्रदेश वासी मेरा परिवार हैं। बिजली, पानी, सिंचाई को लेकर हमने बहुत काम किया।” कार्यवाहक मुख्यमंत्री चौहान ने मोदी और अमित शाह की तारीफ करते हुए कहा कि केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेश में पूरा सहयोग किया। फिर चाहे वो खुद प्रधानमंत्री हों या भाजपा अध्यक्ष अमित शाह। एक-एक सीट पर इस तरह ध्यान देने वाले अध्यक्ष मैंने नहीं देखे।

Loading...

उन्होंने हार स्वीकार करते हुए हार की जिम्मेदारी भी ली, साथ ही कहा, ये सच है कि हमें बहुमत नहीं मिला। अपेक्षित सफलता भी नहीं मिल सकी। अगर इसके लिए कोई जिम्मेदार है तो वो सिर्फ शिवराज सिंह चौहान यानी मैं हूं। सभी को सहयोग के लिए हृदय से धन्यवाद देता हूं। मैंने किसी का दिल नहीं दुखाया। कमलनाथजी को मैंने फोन कर बधाई दी। नई सरकार से ये आग्रह करना चाहता हूं कि जनता की कल्याण की योजनाओं में निरंतरता रहे।

विपक्ष में बैठने के बारे में सवाल पूछे जाने पर शिवराज ने कहा, “विपक्ष भी मजबूत है। हमारे 109 विधायक हैं। हम सशक्त लेकिन रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएंगे। प्रदेश के हित के लिए जहां जरूरत होगी वहां साथ खड़ा रहूंगा। चौकीदारी करने की जिम्मेदारी अब हमारी है।”

bjp

नेता प्रतिपक्ष के सवाल पर चुटकी लेते हुए शिवराज ने कहा, “नेता प्रतिपक्ष तो पार्टी तय करेगी लेकिन हम नेता तो रहेंगे।”
शिवराज ने अगले कदम के बारे में बात करते हुए कहा कि अगला लक्ष्य, 2019 का लोकसभा चुनाव है। मोदीजी के नेतृत्व में शानदार सफलता प्राप्त करें, इसके लिए काम करेंगे।

मध्यप्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष राकेश सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जनता ने स्पष्ट मत नहीं दिया। बीजेपी को 41 प्रतिशत मत मिले। बीजेपी का कांग्रेस से ज्यादा मत प्रतिशत है. हम जनता के निर्णय का सम्मान करते हैं। बीजेपी  कार्यकर्ताओं का आभार जताते हुए उन्होंने कहा कि पूरा देश जानता है कि बीजेपी के कार्यकर्ता पूरी निष्ठा के साथ काम करते हैं।

राकेश सिंह ने कहा कि बीजेपी समाज कल्याण के काम में पहले की तरह ही लगी रहेगी। कांग्रेस को भी स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल को शिवराज सिंह ने आज अपना इस्तीफा सौंपा है। बीजेपी ने जो कार्य शिवराज सिंह के नेतृत्व में राज्य में किए हैं उसकी मिसाल किसी और राज्य में नहीं मिलती। कांग्रेस को जीत की बधाई। आशा है कि हमारे किए काम को कांग्रेस आगे बढ़ाएगी।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें