Saturday, October 23, 2021

 

 

 

शिवराज ने की 60 से ज़्यादा सभाए, तीन दिन डाले रखा डेरा फिर भी कांग्रेस के हाथो मिली ज़बरदस्त हार

- Advertisement -
- Advertisement -

भोपाल । मध्यप्रदेश की चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस ने ज़बरदस्त जीत दर्ज की है। इस चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी पूरी कैबिनेट ने एड़ी चोटी का ज़ोर लगा दिया लेकिन फिर भी वह कांग्रेस को जीत दर्ज करने से नही रोक सकी। ख़ुद शिवराज ने यहाँ ६० से ज़्यादा सभाए की। यही नही वो क़रीब तीन दिनो तक यहाँ डेरा डाले रहे।

चित्रकूट जनता द्वारा अस्वीकार किए जाने के बाद शिवराज ने ट्वीट कर कहा की मैं जनता के निर्णय को शिरोधार्य करता हूँ। जनमत ही लोकतंत्र का असली आधार है। जनता के सहयोग के लिए आभार। मैं वादा करता हूँ की चित्रकूट के विकास में कोई कमी नही होगी। प्रदेश के कोने कोने का विकास ही मेरा परम ध्येय है। उधर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने भी उपचुनाव में मिली हार पर प्रतिक्रिया दी है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि वो इस हार को स्वीकार करते है। हम इस हार की समीक्षा करेंगे। हालाँकि नंदकुमार ने हार पर बहाना बनाते हुए कहा की यह सीट परम्परागत कांग्रेस की सीट रही है। हमने यह सीट केवल एक बार २००८ में जीती थी। वहीं कांग्रेस के सांसद और पूर्व मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, ‘प्रदेश की जनता ने भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना लिया है, जिसकी शुरुआत चित्रकूट से हो गई है।

मालूम हो कि यह इलाक़ा आदिवासी बहुल माना जाता है। इसलिए आदिवासियों को लुभाने के लिए शिवराज एक रात आदिवासी के घर भी रुके थे। यही नही इस सीट को जीतने के लिए यूपी के मुख्यमंत्री ने भी चित्रकूट का दौरा किया था। फ़िलहाल इस जीत से उत्साहित कांग्रेस, इन नतीजों को गुजरात चुनावों में भुनाने का प्रयास करेगी। आदिवासियों का जो वोट बैंक कांग्रेस से छिटकता दिख रहा था वो इन नतीजों से वापिस एकजुट हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles