कानपुर | उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावो के लिए चुनाव प्रचार जोरो पर है. सभी पार्टी के स्टार प्रचारक अपने प्रत्याशी के समर्थन में रोजाना जनसभाए और रेलिया संबोधित कर रहे है. इस दौरान वो भावनाओं में बहकर कुछ ऐसा बयान दे जाते है जिसके बाद पूरी पार्टी की किरकिरी होती है. हालाँकि आजकल विवादित बयान देने का कुछ चलन से चल पड़ा है. शायद इससे फ्री की पब्लिसिटी मिल जाती है.

कुछ ऐसा ही बयान दिया है मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने. उन्होंने एक रैली को संबोधित करते हुए सपा नेता और राज्य सरकार में मंत्री आजम खान के लिए बेहद ही कड़े शब्दों का इस्तेमाल किया. उन्होंने कहा की वो ऐसे नेता है जिनका नाम अगर मैं ले लू तो मुझे नहाना पड़ता है. इसके अलावा उन्होंने अखिलेश सरकार पर संप्रदायिक आधार पर भेदभाव करने का भी आरोप लगाया.

सोमवार को सीसमाऊ विधानसभा क्षेत्र में बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में एक रैली को संबोधित किया. उन्होंने कहा की जल्द ही उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने वाली है , इसके बाद यहाँ भी ऐसी ही व्यवस्था हो जैसे बाकी बीजेपी शासित राज्यों में है. उन्होंने प्रदेश की ख़राब कानून व्यवस्था के लिए अखिलेश सरकार को दोषी ठहराते हुए कहा की अगर सरकार चाहे तो अपराधियों के हौसले पस्त हो सकते है.

शिवराज ने मध्य प्रदेश में अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा की मैंने मुख्यमंत्री बनते ही प्रदेश के सभी डाकुओ को सफाया करा दिया. इसके अलावा अभी सिमी के कुछ आतंकी जेल से भागे थे. उनका क्या हश्र हुआ, सभी ने देखा. अब जेल के कैद जेलर को कहते है की हमारे सेल पर एक अतिरिकत ताला लगा दो. उन्होंने सपा-कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा की पुरे देश में मोदी लहर चल रही है इसलिए दोनों को साथ आना पड़ा.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें