लखनऊ | समाजवादी पार्टी में कभी नंबर तीन की हैसियत रखने वाले शिवपाल यादव अब अलग थलग पड़ गए है. पार्टी में उनके लिए आवाज उठाने वाले अब बेहद कम बचे है. अपनी ही पार्टी से दरनिकार किये गये शिवपाल यादव अब और विकल्पों पर भी विचार कर रहे है. सोमवार को अचानक से इस बात की अटकले लगाई जाने लगी की वो समाजवादी पार्टी छोड़कर लोकदल ज्वाइन कर सकते है.

सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए शिवपाल यादव ने आज समाजवादी पार्टी की तरफ से पर्चा भर दिया. जसवंतनगर सीट से पर्चा भरने के बाद शिवपाल ने अपने समर्थको को संबोधित भी किया. परिवार और पार्टी से अलग थलग किये जाने की टीस उनके बयानों से साफ़ झलक रही थी. उन्होंने कहा की कल से बहुत सारी अटकले लगायी जा रही थी लेकिन आज मैंने समाजवादी और साइकिल निशान से पर्चा भर दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

परिवार में सब कुछ ठीक होने नही होने का इशारा करते हुए शिवपाल ने कहा की आज मैं समाजवादी पार्टी से पर्चा भर रहा हूँ क्योकि मैं आज जो कुछ भी हूँ वो नेताजी की वजह से हूँ. उनके आदेश पर ही मैंने पर्चा भरा. 11 मार्च को नतीजे आयेंगे, आप सरकार बनाइये हम नयी पार्टी बनायेंगे. इस दौरान उनके समर्थक नारे लगाते रहे की ‘थामे मशाल फिर आए शिवपाल’.

शिवपाल ने चुनाव लड़ने को लेकर उन्होंने कहा की मैं 15 दिन पहले तक चुनाव लड़ने के बारे में बिलकुल नही सोच रहा था. मेरे समर्थक मुझसे निर्दलय चुनाव लड़ने के लिए कह रहे थे लेकिन अब मेरे पास काफी विकल्प है. पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करने के सवाल पर उन्होंने कहा की 19 तारीख तक मैं अपने विधानसभा क्षेत्र में प्रचार करूँगा, इसके बाद कोई बुलाएगा तो प्रचार के लिए पहुँच जाऊँगा.

उधर अखिलेश यादव ने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा की हमारी जीत से सबसे ज्यादा ख़ुशी अगर किसी को होगी तो वो नेता जी को होगी. हमारी जीत से ही उनका सामान सबसे ज्यादा बढेगा. उधर मुलायम के चुनाव प्रचार करने के सवाल पर रामगोपाल यादव ने कहा की कौन प्रचार करेगा , कौन नही करेगा , ये मायने नही रखता.

Loading...