moron-shivpal_062216075915

लखनऊ | उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े सियासी परिवार में मचा घमासान खत्म होने का नाम नही ले रहा है. हालाँकि एक गुट के ,अखिलेश को पार्टी का राष्ट्रिय अध्यक्ष घोषित करने के बाद सुलह की सारी गुंजाईश खत्म हो गयी है. एक तरफ मुलायम अमर सिंह और शिवपाल को पार्टी से नही निकालना चाहते जबकि अखिलेश दोनों को पार्टी से बाहर करने की जिद पर अड़े है.

हालाँकि पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान अभी भी सुलह की कोशिशो में लगे हुए है. उनको उम्मीद है की दोनों गुटों के बीच सुलह हो जाएगी. खबर मिली है की पार्टी को टूटने से बचाने के लिए अमर सिंह और शिवपाल सिंह यादव ने पार्टी से इस्तीफा देने की पेशकश की है. यही नही शिवपाल ने अपनी सीट जसवंत नगर को छोड़ने की भी पेशकश की है.

शिवपाल और अमर सिंह की पेशकश को फ़िलहाल मुलायम ने ठुकरा दिया है. इसी मुद्दे पर बात करने के लिए शिवपाल और मुलायम दिल्ली रवाना हो गए है. दिल्ली पहुंचकर मुलायम, अमर सिंह से बात करेंगे. खबर यह भी है की मुलायम सिंह अध्यक्ष पद छोड़ने को तैयार नही है. जबकि अखिलेश गुट की मांग है की पार्टी का राष्ट्रिय अध्यक्ष अखिलेश रहेंगे जबकि मुलायम सिंह को संरक्षक नियुक्त किया जाए.

उधर चुनाव की तारीखों का एलान होते ही सभी पार्टियों पर अपने उम्मीदवार घोषित करने का दबाव आ गया है. इसलिए अखिलेश ने आज अपने सभी विधायको की बैठक बुलाई है. खबर है की अखिलेश ने अपने सभी जिलाध्यक्षो को चुनावो की तैयारी में लगने के लिए कहा है. अखिलेश गुट जल्द ही सभी उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर देगा. उधर चुनाव आयोग ने दोनों गुटों को नोटिस भेजकर 9 जनवरी तक जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें