चेन्नई | जयललिता की मौत के दो महीने बाद AIADMK में बागवत के सुर फूटने लगे है. वर्तमान मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेलवम ने पार्टी महासचिव शशिकला पर कई गंभीर आरोप लगाये है. उन्होंने प्रेस वार्ता में यह भी बताया की शशिकला को मुख्यमंत्री बनाने के लिए जबरदस्ती इस्तीफा लिया गया. पन्नीरसेलवम की बगावत पर शशिकला ने कड़ा रुख अपनाते हुए उन्हें गद्दारी की सजा देने की बात कही है. वही शशिकला ने अपने पक्ष में 130 विधायको को जुटाकर यह सन्देश देने की कोशिश भी की , की पार्टी पर फ़िलहाल उनकी पकड़ मजबूत है.

बुधवार को पार्टी मुख्यालय पर अपने समर्थको को संबोधित करते हुए शशिकला ने कहा की पन्नीरसेलवम उस पार्टी के साथ नजदीकी बढ़ा रहे है जिसके साथ अम्मा ( जयललिता ) ने पूरी जिन्दगी मुकाबला किया. अगर मुख्यमंत्री रहते वो कोई गलती करते है तो पार्टी महासचिव होने के नाते ये मेरी जिम्मेदारी है की मैं उन्हें सजा दूँ. शशिकला पन्नीरसेलवम को उनके पद से हटाने पर सफाई दे रही थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

विरोधियो पर बरसते हुए शशिकला ने कहा की मेरे विरोधी मेरे पीछे पड़े हुए है. वो नही चाहते की मैं अम्मा के रास्ते पर चलूँ लेकिन कोई भी ताकत मुझे अम्मा के रास्ते पर चलने से नही रोक सकती. जयललिता की मौत के समय मुख्यमंत्री पद नही सँभालने को लेकर शशिकला ने कहा की उस समय मुझे समर्थको ने जिम्मेदारी सँभालने के लिए कहा था लेकिन मैं ऐसा नही कर सकी क्योकि मैं काफी दुखी थी.

दरअसल शशीकल पहले भी पन्नीरसेलवम पर विपक्षी दल DMK से नजदीकी बढाने का आरोप लगा चुकी है. उन्होंने एक बार कहा था की पन्नीरसेलवम सदन में DMK नेताओं को देखकर मुस्कराते है और वो उनके साथ मिलकर साजिश रच रहे है. हालाँकि DMK नेताओ ने इस बात को ख़ारिज करते हुए कहा की सदन में जयललिता भी हमारे नेताओं को देखकर मुस्कराती थी तब शशिकला ने उन पर सवाल खड़े क्यों नही किये?

Loading...