Wednesday, January 19, 2022

​​कश्मीर में जो किया गया, वह देश के किसी भी हिस्से में हो सकता है: शशि थरूर

- Advertisement -

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने और उसके बाद केंद्र सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की आलोचना करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने अपने एक विडियो संदेश में कहा है कि कश्मीर के साथ जो किया गया है वह कल को देश के किसी भी हिस्से के साथ हो सकता है।

कांग्रेस पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हेंडल से शशि थरूर का यह विडियो संदेश जारी किया है। जिसमे उन्होने कहा, ‘‘30 दिन पहले कश्मीर को अंधेरे में धकेल दिया गया…. राजनेताओं को हिरासत में लिया गया… हमें ऐसी स्थिति मिली जहां न तो टेलिफोन लाइनें चल रही थीं और न ही इंटरनेट कनेक्शन चल रहे थे, न कॉलेज न स्कूल और न ही परीक्षाएं… अगर आज यह जम्मू-कश्मीर के साथ हुआ है तो कल को यह देश के किसी भी हिस्से के साथ किया जा सकता है, आपको सिर्फ इतना करना है कि राष्ट्रपति शासन लागू करो, जो चाहे वह राज्य के साथ करो, और आपका नियुक्त किया हुआ गवर्नर आपके हर हुक्म पर हामी भरेगा।’’

वहीं  कांग्रेस की छात्र इकाई भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने बुधवार को फ्यूचर ऑफ इंडिया विद यंग इंडिया टाइटल से कार्यक्रम का आयोजन किया था। इसमें थरूर ने कश्मीर पर एक छात्रा द्वारा प्रश्न का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि कश्मीर में लगभग एक महीने से लोग अपने घरों में बंद हैं, जो सरासर गलत है।

जब शशि थरूर से जब पूछा गया कि आर्टिकल 370 को लेकर कांग्रेस के नेताओं के बीच मतभेद क्यों है तो उन्होंने कहा कि इस बात को लेकर किसी में कोई संदेह नहीं होना चाहिए कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है। लेकिन इस बात को लेकर लोगों के बीच दुविधा है कि क्या हमे आर्टिकल 370 का हमेशा समर्थन करना चाहिए। इसका जवाब है नहीं, यहां तक कि नेहरू जी ने भी कहा था कि आर्टिकल 370 को तबतक ही रहना चाहिए जबतक कि इसकी जरूरत है, इसे हमेशा रखने की जरूरत नहीं है।

शशि थरूर ने कहा कि लेकिन जिस तरह से आर्टिकल 370 को हटाया गया है वह संविधान भावना के खिलाफ है। इस फैसले से पहले कश्मीर के लोगों से सुझाव लेना चाहिए था। प्रदेश के राजनीतिक दल जैसे नेशनल कॉन्फ्रेंस से भी इस बारे में पूछना चाहिए था, उनसे यह पूछना चाहिए था कि आखिर क्यों आर्टिकल 370 को नहीं हटाना चाहिए। थरूर ने कहा कि हमने जम्मू कश्मीर में लोगों के साथ जो बर्ताव किया हम उसी बर्ताव के खिलाफ पाकिस्तान पर निशाना साधते हैं जो वह गिलगिट बल्टिस्टान और पीओके में करता है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles