बीजेपी के साथ गठजोड़ कर बिहार के मुख्यमंत्री बनने वाले शरद यादव अब नीतीश कुमार के खिलाफ खुलकर सामने आ गए है. उन्होंने कहा कि गठबंधन नीतीश ने बिहार के 11 करोड़ लोगों का विश्वास तोड़ा है. उन्होंने कहा कि गठबंधन हमने पांच साल के लिए हुआ था.

शरद यादव ने आगे कहा कि वोट इनाम है, जनता से किया हुआ वादा इमान है वो इमान टूटा है तो लोकतंत्र बर्बाद हो जाएगा. उन्होंने कहा कि हमने पांच सालों के लिए गठबंधन किया था. इस गठबंधन के टूटने की वजह से 11 करोड़ लोगों का विश्वास टूटा है. मैं पूरे राज्य में एक यात्रा करूंगा और लोगों से बात करूंगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने आगे कहा कि चुनाव में एक मेनिफेस्टो जेडीयू का था, जब एक मेनिफेस्टो बीजेपी का. 70 साल के इतिहास में ऐसा कोई उदाहरण नहीं मिलता, जहां दो पार्टी या गठबंधन जो चुनाव में आमने-सामने लड़े हों और जिनके मेनिफेस्टो अलग-अलग हों, दोनों के मेनिफस्टो मिल गए हों.

उन्होंने मीडिया को बताया कि वह अब भी पुराने गठबंधन के साथ हैं. शरद ने कहा, ‘जिस जनता ने गठबंधन बनाया था, जिस जनता से हमने जो करार किया था, वो ईमान का करार था. वो टूटा है जिससे हमको तकलीफ हुई है.

Loading...