हाल ही में बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने गठबंधन का विरोध करने पर शरद यादव को चेतावनी जारी करते हुए कहा था कि वे गठबंधन स्वीकार ने अन्यथा अपना अलग रास्ता अपनाने के लिए स्वतंत्र है.

नीतीश कुमार की इस चेतावनी पर शरद यादव का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि वह  इंदिरा गांधी के खिलाफ खड़े हुए थे और उन्हें किसी का डर नहीं है. उन्होंने कहा,  ‘कुछ पार्टी नेता मुझे डरा रहे हैं, मैंने इंदिरा गांधी का सामना किया और डरा नहीं. वे कौन होते हैं मुझे डराने वाले?’

उन्होंने नीतीश की चेतावनी पर कहा कि उनके और नीतीश कुमार के बीच समझौते की गुंजाइश नहीं है. दरअसल शरद यादव पहले ही साफ़ कर चुके है कि वे महागठबंधन के साथ है. हाल ही में उन्होंने कहा था, ‘मैं महागठबंधन के साथ हूं, सरकारी जेडीयू नीतीश कुमार के साथ है और असली पार्टी मेरे साथ है.’

नीतीश की भ्रष्टाचार की नीती पर सवाल खड़े करते हुए उन्होंने कहा, लालू प्रसाद भ्रष्टाचार के आरोप में जेल गए हैं. तब किन परिस्थितियों में उनके साथ गठबंधन किया गया था.’  उन्होंने कहा, उन्होंने कई बार भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाई है, चाहे वह 2 जी घोटाला हो, या राष्ट्रमंडल घोटाला हो, हवाला हो या आसाराम बापू का मामला हो.

जेडीयू की राज्य इकाई के प्रवक्ता नीरज कुमार ने यादव पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे, लालू के बेटों तेजस्वी और तेज प्रताप के ‘राजनीतिक चाचा’ बन गए हैं.  उन्होंने कहा कि पार्टी सही समय पर यादव के खिलाफ समुचित कार्रवाई करेगी

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?