बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा अचानक से इस्तीफा देना और फिर अगली ही घड़ी बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना लेने के फैसले से जेडीयू के पूर्व अध्यक्ष और पार्टी सांसद शरद यादव नाराज है.

पहली बार नीतीश के फैसले पर चुप्पी तोड़ते हुए शरद यादव ने कहा कि गठबंधन टूटने का उन्हें अफसोस है. उन्होंने कहा, मैं बिहार में इस फैसले से सहमत नहीं हूं. यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है. लोगों का जनादेश इसके लिए नहीं था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शरद यादव ने कहा, “महागठबंधन का टूटना दुर्भाग्यपूर्ण है, बिहार में जो भी हुआ, मैं उस फैसले से सहमत नहीं हूं. लोगों ने हमें इस बात के लिए जनादेश नहीं दिया था.”

सांसद वीरेंद्र कुमार और अली अनवर की नीतीश कुमार से नाराजगी के सवाल पर उन्होंने कहा कि ”जो हालात हैं उसको लेकर मेरे मन में वेदना है.” आगे के फैसले को लेकर उन्होंने कहा कि ”मैं इस बारे में अभी कुछ भी नहीं बोलूंगा.”

इस पर जेडीयू के नेता केसी त्यागी ने कहा कि शरद यादव हमारी पार्टी के बड़े नेता हैं. समय-समय पर वह राष्ट्रीय समस्याओं को लेकर अपने विचार व्यक्त करते रहे हैं. ये भी उसी की एक कड़ी है.

Loading...