मोदी सरकार के लिए मुसीबत बन चुकी राफेल डील मामले में यूपीए की सहयोगी दल राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार का बड़ा बयान आया है। उन्होने कहा कि पीएम मोदी के इरादों पर शक नहीं किया जा सकता है।

मराठी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में पवार ने कहा कि कांग्रेस की मांगों का कोई औचित्य नहीं है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि फाइटर प्लेन की कीमतों का खुलासा करने से सरकार को कोई खतरा नहीं होता। उन्होंने कहा ‘निजी तौर पर मुझे लगता है कि लोगों को पीएम मोदी के इरादों पर कोई शंका नहीं है।’

यूपीए सरकार में कृषि मंत्री रहे शरद पवार ने कहा कि इस मुद्दे पर रक्षा निर्मला सीतारमण ने सफाई दे इससे कन्फ्यूजन पैदा हुई। उन्होंने कहा कि अब इस मुद्दे पर रक्षा मंत्री के बजाय वित्त मंत्री अरुण जेटली को सफाई देते देखा जा सकता है।

पवार का यह बयान भी ऐसे समय पर आया जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ‘पीएम चोर’ जैसे नारे उछाल रहे हैं और कांग्रेस मुंबई में राफेल पर सबसे बड़ी रैली कर रही है। कांग्रेस का आरोप है कि अनिल अंबानी के रिलायंस डिफेंस को लाभ पहुंचाने के लिए इस डील में बड़ा घोटाला किया गया।

गौरतलब है कि भारत और फ्रांस के बीच 36 राफेल जहाज खरीदने का समझौता साल 2016 में हुआ था। उस वक्त मैक्रों नहीं बल्कि फ्रांस्वा ओलांद सत्तासीन थे। ओलांद ने कुछ दिन पहले फ्रांस मीडिया को दिए एक बयान में ये कहकर मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी थीं कि इस डील के ऑफसेट पार्टनर के रूप में उन्होंने रिलायंस को नहीं चुना बल्कि भारत सरकार की ओर से नाम आगे बढ़ाया गया।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें