कांग्रेस का दामन छोड़ बगावती सुर अपनाने वाले गुजरात के वरिष्ठ नेता शंकर सिंह वाघेला पर कल होने वाले राज्यसभा चुनाव में मतदान को लेकर सबकी नजरे टिकी हुई है. दरअसल कल कांग्रेस के वरिष्ट नेता अहमद पटेल के भविष्य का भी फैसला होना है.

NDTV से बातचीत में उन्होंने अहमद पटेल के समर्थन पर इसे आपसी मामला करार दिया. उन्होंने कहा कि अहमद पटेल से उनके काफी पुराने और अच्छे संबंध हैं. वोट देने को लेकर उन्होंने कहा कि मुझे इस सबंध में क्या करना है हम दोनों के बीच चर्चा हो चुकी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, देखिए ये मेरी निजी सोच है, मेरा निजी फ़ैसला है. किसे वोट करना है, किसे नहीं करना है ये कोई सवाल नहीं है. ऐसा कुछ नहीं है कि मुझे आख़िरी वक़्त में फ़ैसला लेना है. मैंने पहले ही अपना मन बना लिया है.

 वाघेलाने बताया, 1977 में जब मैं जनता पार्टी के हिस्से से लोकसभा सांसद चुना गया तब अहमद भाई कांग्रेस से जुड़े हुए थे. तब से ही हम अच्छे दोस्त हैं. मैं उनके घर भी आया-जाया करता था. आज भी हमारे संबंध बहुत अच्छे हैं. आज सुबह भी हमने फ़ोन पर चर्चा की. कल भी वो मुझे फ़ोन करेंगे. 8 तारीख़ के बाद भी हम एक-दूसरे से मिलेंगे. इसलिए कोई दिक़्क़त नहीं है. हमारा रिश्ता राजनीतिक दल से अलग है.