कांग्रेस ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) द्वारा प्रमाणित पार्टी करार दिया. कांग्रेस का कहना है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के टेलीफोन नेटवर्क में भाजपा, बजरंग दल और विहिप से जुड़े लोग सामने आए हैं.

कांग्रेस प्रवक्ता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस बारें में कहा कि देश की सुरक्षा के लिए यह चिंताजनक स्थिति है और उच्चतम न्यायालय की निगरानी में केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) से इसकी जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा, आंतरिक सुरक्षा के मामले से समझौता नहीं किया जा सकता लेकिन पिछले सप्ताह जम्मू-कश्मीर के आरएसपुरा से पकड़े गए 11 आतंकवादियों ने जो खुलासा किया वह चौंकाने वाला है.

सिंधिया ने बताया कि सूचना मिली है कि आईएसआई का नेटवर्क देश के चार बड़े नगरों में 30 एक्सचेंज के माध्यम से चल रहा है. इसमें सबसे बड़ा खुलासा इस बात का हुआ है कि जो लोग पकड़े गए हैं उनका संबंध भाजपा, बजरंग दल और विहिप से है.  सिंधिया ने कहा, ‘भोपाल में गिरफ्तार ध्रुव सक्सेना भाजपा के आईटी सेल तथा भारतीय जनता युवा मोर्चा का सदस्य है. उसके भाजपा के कई सांसदों के साथ मजबूत रिश्ते हैं. उसकी तस्वीरें मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री तथा भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के साथ हैं. ग्वालियर से गिरफ्तार जितेंद्र सिंह भी भाजपा के कई नेताओं का करीबी है.’

उन्होंने कहा, ‘बजरंग दल से जुड़ा बलराम सिंह जासूसी नेटवर्क का मास्टरमाइंड है. नेटवर्क के सदस्यों को पैसा वही देता है। वह आईएसआई के खातों से विदेशी मुद्राओं को हस्तांतरित करने में भी शामिल था.’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘चौथा शख्स आशीष सिंह विश्व हिंदू परिषद (विहिप) का है. विहिप ने उसे हाल में निष्कासित कर दिया था.’

भाजपा की ओर इशारा करते हुए सिंधिया ने कहा कि राष्ट्रविरोधी तत्वों को पनाह देने में शामिल पाई गई सत्ताधारी पार्टी राष्ट्रवाद के बारे में बातें करती है. उन्होंने कहा कि यहां रामभरोसे की सरकार चल रही है. जो लोग मुंह में राम बगल में छुरी रखते हैं, ये उसका एक अच्छा उदाहरण है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें