निजता के अधिकार पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर तीखा हमला किया है.

उन्होंने कहा कि  सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला फासीवादी ताकतों के लिए एक बड़ा झटका है. उन्होंने कहा, कोर्ट ने निगरानी के जरिए दबाव डालने की विचारधारा को ठोस तरीके से खारिज किया. राहुल ने अपने ट्वीट में लिखा है कि निगरानी के जरिए बीजेपी की दमनकारी विचारधारा के खिलाफ यह अस्वीकृति की आवाज है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि निजता निजी स्वतंत्रता के मूल में है, जीवन का अभिन्न हिस्सा है. कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट द्वारा एकमत से निजता के अधिकार को संविधान के तहत मौलिक अधिकार घोषित करने का स्वागत करती है.

ध्यान रहे सुप्रीम कोर्ट ने आज अपने फैसले में निजता के अधिकार को भारत के संविधान के तहत मौलिक अधिकार घोषित करार दिया. अब सुप्रीम कोर्ट का फैसला कांस्टीट्यूशन के आर्टिकल-141 के राइट टू प्राइवेसी के तहत कानून माना जाएगा.

चीफ जस्टिस जे. एस. खेहर की अध्यक्षता वाली नौ सदस्यीय संविधान पीठ ने फैसले में कहा कि संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत दिए गए अधिकारों के अंतर्गत प्राकृतिक रूप से निजता का अधिकार संरक्षित है.

Loading...