इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 में आर्ट ऑफ़ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर के अयोध्या विवाद के संदर्भ में दिए गए सीरिया वाले बयान को लेकर कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा कि अगर ये बयान ओवैसी ने दिया होता तो वे जेल में होते.

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा,  भारत सरकार श्री श्री पर एक्शन क्यों नहीं ले रही, अगर यही बयान ओवैसी का होता तो आज ओवैसी बाहर होते क्या इनको उठा कर अब तक अंदर डाल दिया गया होता. निरुपम ने कहा श्री श्री भारत को तोड़ने की बात करते हैं और आप कहते हैं ओवैसी एफआईआर क्यों नहीं करते.

बता दें कि अयोध्या विवाद मामले में श्रीश्री रविशंकर ने कहा था कि अयोध्या मुस्लिमों का धार्मिक स्थल नहीं है. उन्हें इस धार्मिक स्थल पर अपना दावा छोड़ कर मिसाल पेश करनी चाहिए. अगर यह मामला नहीं सुलझा तो देश सीरिया बन जाएगा. उन्होंने कहा था कि भारत में शांति रहने दीजिए. हमारे देश को सीरिया जैसा नहीं बनना चाहिए. ऐसी हरकत यहां हो जाए तो सत्यानाश हो जाएगा.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए निरूपम ने कहा कि सत्ताधारी पार्टी की दिलचस्पी मंदिर बनाने में नहीं, बल्कि मुद्दे के राजनीतिकरण में है.

उन्होंने कहा, ‘मुझे100 फीसदी यकीन है कि 2019 के चुनावों से पहले फैसला आ जाएगा, क्योंकि बीजेपी ऐसा ही चाहती है. भगवान राम इस देश का जीवन हैं. लेकिन आस्था और भावनाएं अदालत में नहीं चलतीं. बीजेपी को राम मंदिर की चिंता नहीं करनी चाहिए. इसे निर्मोही अखाड़ा (यह जमीन के मालिकाना हक विवाद में एक पक्ष है) पर छोड़ देना चाहिए.’