नई दिल्ली | दिल्ली में आम आदमी पार्टी के विधायक और पूर्व महिला एवं बाल कल्याण मंत्री संदीप कुमार जमानत पर रिहा होकर बाहर आ चुके है. चौकाने वाली बात यह है की वो रिहा होने के बाद बीजेपी उम्मीदवार के समर्थन में वोट मांगते दिखाई दे रहे है. बताते चले की दिल्ली में 23 अप्रैल को एमसीडी के लिए चुनाव होने है. इन चुनावो में कांग्रेस, बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होने के आसार है.

कथित सेक्स सीडी कांड में जेल गए संदीप कुमार जमानत पर रिहा हो गए है. सेक्स केस में फंसने के बाद अरविन्द केजरीवाल ने उन्हें मंत्री पद से तो बर्खास्त कर ही दिया था बल्कि उनको पार्टी से भी निकाल दिया गया था. अब रिहा होने के बाद संदीप कुमार नए राजनितिक विकल्प तलाशने में लग गए है. इसलिए वो एमसीडी इलेक्शन में नरेला से बीजेपी उम्मीदवार सविता खत्री के पक्ष में प्रचार करते दिख रहे है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस बारे में बताते हुए उन्होंने कहा की बीजेपी उम्मीदवार के परिवार के साथ उनके घरेलु सम्बन्ध है. इसलिए खत्री जी के लिए न केवल वोट मांगेंगे बल्कि चुनाव प्रचार भी करेंगे. बीजेपी में शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा की अभी तो उनकी विधायकी के तीन साल बचे है. इसलिए वो किसी पार्टी में नही जा रहे है. इस अवधि के बाद किसी दूसरी पार्टी में जाने पर विचार किया जायेगा.

मालूम हो की संदीप कुमार की सेक्स सीडी वायरल होने के बाद बीजेपी ने आम आदमी पार्टी के विरुद्ध हमलावर रुख अपनाया था. बीजेपी ने संदीप कुमार को ‘राशन कार्ड बनाने वाला मंत्री’ बताकर सडको पर विरोध प्रदर्शन भी किया था. लेकिन अब वो ही ‘राशन कार्ड बनाने वाला मंत्री’ उनके लिए प्रचार कर रहा है. यह बीजेपी की दोहरे चरित्र को दर्शाता है और उनकी नैतिकता पर भी सवाल खड़े करता है.

Loading...