मेरठ. समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता और उप्र सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अयोध्या में अगर संत श्रीराम मंदिर बनाने की पहल करते हैं तो सबसे पहले वह हरी झंडी दिखाएंगे।

शनिवार को किठौर शाहजहांपुर में राम मंदिर पर उन्होंने कहा कि कानून किसी को भी हाथ में नहीं लेना चाहिए। हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट जब कुछ नहीं कर पा रहे तो मुसलमान मंदिर निर्माण भला कैसे रोक पाएगा। उन्होंने कहा कि साधु-संत राम मंदिर बनाने की पहल करते हैं तो वह खुद हरी झंडी दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा के तमाम एजेंडों को जनता समझ चुकी है।

Loading...

इस दौरान उन्होंने मुस्लिम समुदाय के लोगों को खासतौर से हिदायत दी कि किसी भी धार्मिक सभा या ऐसी किसी राजनीतिक सभा से बचें जिससे दूसरे समुदाय के लोगों को मुसलमानों के खिलाफ एकजुट होने का अवसर मिल सके।

उन्होंने पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा को मिली हार पर तंज कसते हुए कहा कि चुनावों में विचारधारा हारी है, पार्टी नहीं। राजस्थान, मध्यप्रदेश, मिजोरम और तेलंगाना में भाजपा का सफाया होने के साथ ही पार्टी अपने मजबूत गढ़ छत्तीसगढ़ में भी बुरी तरह पिटी। खास बात यह है कि जिन सीटों पर पीएम व यूपी के सीएम ने चुनाव प्रचार किया वहीं करारी हार मिली। जिससे स्पट हो गया कि मोदी और योगी की विचारधारा को हिंदुओं ने भी नापसंद किया है।

इसके बाद आजम खां ने कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी ने जो सीख दी थी नौजवानों को लिन्चिंग के माध्यम से, उसका नुकसान अब हिंदू समाज को ज्यादा हो रहा है। वही पीटे जा रहे हैं, वही पकड़े जा रहे हैं, वही जेल जा रहे हैं।’ उन्होंने योगी के बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उनकी बजरंगबली से कोई दुश्मनी नहीं है अगर भाजपा की अली से हो तो वह इस बारे में कुछ नहीं कह सकते।

जौहर विश्वविद्यालय पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि बच्चों की तालीम के लिए विश्वविद्यालय बनाया है। कोई वैश्यालय या मदिरालय नहीं खोला है। सरकार ने जौहर विश्वविद्यालय में पानी की टंकियों के कनेक्शन कटवा दिए हैं जो कि बेहद शर्मनाक है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें