साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने किया हेमंत करकरे की शहादत का अपमान, कहा – मेरे श्राप ने मार दिया

7:00 pm Published by:-Hindi News

मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई हमले में शहीद पुलिसकर्मी हेमन्त करकरे की शहादत का अपमान किया है। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत ने मुझे गलत तरिके से फंसाया था, मैंने कहा था कि तुम्हारा पूरा वंश खत्म हो जाएगा। वो अपने कर्मों की वजह से मरें हैं।

शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में साध्वी ने कहा, ‘हेमंत करकरे मुझे यातनाएं देते थे। मुझसे कुछ भी पूछते थे। मैंने कहा कि तेरे सर्वनाश होगा और ठीक सवा महीने बाद आतंकियों ने मार दिया।  जिस दिन मैं गई थी उस दिन सूतक लग गया था।’ हेमंत करकरे महाराष्ट्र एटीएस के प्रमुख थे और साल 2008 में मुंबई पर हुए हमलों के दौरान उनकी मौत हो गई थी। बहादुरी के लिए साल 2009 में उन्हें अशोक चक्र दिया गया था।

हेमंत करकरे ने साल 2006 में हुए मालेगांव बम धमाका मामले की जांच भी की थी और इस दौरान साध्वी प्रज्ञा सिंह से भी उन्होंने पूछताछ की थी। मालेगांव धमाका मामले की अभियुक्त प्रज्ञा सिंह फ़िलहाल ज़मानत पर जेल से बाहर हैं और बीजेपी ने उन्हें भोपाल से उम्मीदवार बनाया है।

साध्वी ने कहा, मैंने कहा तेरा सर्वनाश होगा और ठीक सवा महीने में, सूतक लगता है, जब किसी के यहां मृत्यु या जन्म होता है तो सूतक लगता है। जिस दिन मैं गई थी उस दिन इसके सूतक लग गया था और ठीक सवा महीने में जिस दिन उसे आतंकवादियों ने मारा उस सूतक का अंत हो गया।”

साध्वी ने कहा, “भगवान राम के काल में रावण हुआ तो सन्यासियों के द्वारा उसका अंत करवाया गया। जब द्वापर युग में कंस हुआ तो सन्यासी पुनः आए और उसका अंत करवाया। जिन संतों सन्यासियों को उसने जेल में डाल रखा था उनका श्राप लगा और कंस का अंत हुआ।”

साध्वी ने कहा, “2008 में ये षड़यंत्र देशविरुद्ध रचा गया और सन्यासियों को अंदर डाला गया उस दिन मैंने कहा इस शासन का अंत हो जाएगा, सर्वनाश हो जाएगा और आज ये प्रत्यक्ष उदाहरण आपके सामने हैं।”

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें