लखनऊ | उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने पर चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने बीजेपी पर ब्राहमण और पिछडो को धोखा देना का आरोप लगाते हुए कहा की बीजेपी ने आरएसएस का एजेंडा पूरा करने के लिए योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाया है. इसके अलावा मायावती ने एक बार फिर ईवीएम् मशीन पर सवाल खड़े किये.

योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने पर प्रतिक्रिया देते हुए मायावती ने कहा की बीजेपी और आरएसएस पीछ्दो को पसंद नही करती. यही वजह है की उन्होंने केशव प्रसाद मौर्य को मुख्यमंत्री नही बनाया. मायावती ने आगे कहा की यह बात केशव भी जानते थे लेकिन वो कुछ कर नही सकते थे क्योकि ऐसा करने पर उनको बीजेपी बाहर निकाल देती. इसी कारण केशव प्रसाद को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मायावती ने बीजेपी पर आरएसएस के एजेंडा पर काम करने का आरोप लगाते हुए कहा की बाबरी मस्जिद गिरवाने की वजह से आरएसएस ने कल्याण सिंह को मुख्यमंत्री बनाया था. एक बार फिर उसी एजेंडे को पूरा करने के लिए योगी को मुख्यमंत्री बनाया गया. उधर मायावती के बयान पर साध्वी प्राची ने प्रतिक्रिया दी है. उत्तर प्रदेश की धार्मिक नगरी अयोध्या पहुंची साध्वी प्राची ने मायावती को पागल करार दे दिया.

उन्होंने मायवती पर जातिवादी राजनितिक करने का आरोप लगाते हुए कहा की उनके बयान से जातिवादी राजनीती की गन्दी मानसिकता झलकती है. मायावती द्वारा ईवीएम् मशीन में गड़बड़ी का आरोप लगाने पर साध्वी ने कहा की उनका दिमाग खराब हो चूका है, उनको किसी पागलखाने में भेज देना चाहिए. अयोध्या आने के सवाल पर उन्होंने कहा की मैंने मन्नत मांगी थी की केंद्र में मोदी और यूपी में योगी की सरकार बनने पर मैं रामलला के दर्शन करने आउंगी.

Loading...