राजस्थान के अलवर में गौरक्षा के नाम पर मुस्लिम युवक पहलू खान की हत्या के मामलें में कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने पुरे मामलें की सीबीआई जांच करने की मांग की हैं. साथही उन्होंने आरोप लगाया कि इस तरह के अपराधों के पीछे भाजपा सरकारों को स्वीकृति हैं.

उन्होंने कहा कि अलवर में जो कुछ भी हुआ, उसे किसी भी तरह से सही नहीं ठहराया जा सकता है. उन्होंने कहा कि इस मामले में राज्य सरकार की प्रतिक्रिया और कार्रवाई दोनों ही बेहद निराशाजनक है. उन्होंने कहा कि राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार इस घटना की जांच की बजाय इस पर खेद प्रकट कर रही है. उन्होंने कहा कि केन्द्र के एक मंत्री ने तो इस घटना के घटित होने से ही इंकार कर दिया.

कांग्रेस नेता ने कहा कि गौरक्षकों द्वारा इस तरह की घटनाएं केवल भाजपा शासित प्रदेश में ही क्यों हो रही हैं. इससे पता चलता है कि ऐसी घटनाओं को लेकर उनकी मौन स्वीकृति है. भाजपा शासित प्रदेशों में यह घटनाएं निरंतर बढ़ती जा रही हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, राजस्थान सहित गौरक्षकों की घटनाएं जिन जिन भाजपा शासित प्रदेशों में हुई उसे देखकर लग रहा है कि वहां की सरकारें आरोपियों को बचा रही हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले में यदि सरकार समय रहते कठोर कार्रवाई करे तो ऐसी घटनाओं को भविष्य में होने से रोका जा सकता है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अलवर की घटना का हर स्तर पर विरोध कर रही है.

पायलट ने कहा, एंटी रोमियो दस्ता हो, लव जिहाद हो, गौरक्षकों के गैरकानूनी काम हो या बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई हो, इन सब बातों से एक बात स्पष्ट है कि भाजपा की सरकार पूरे देश पर जबरदस्ती अपनी विचारधारा थोपने के काम को बहुत तेजी से कर रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा का असली एजेंडा अब खुलकर देश के समक्ष आ रहा है.

Loading...