कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गणतंत्र दिवस के मौके पर जारी सन्देश में देशवासियों को बधाई दी. इसी के साथ उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का नाम लिए बिना उनपर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि भारत 26 जनवरी, 1950 को गणतंत्र बना जिसका मतलब है कि वह किसी भी शासक या तानाशाह की सनक को स्वीकार नहीं करेगा. उन्होंने लिखा कि अब किसी बादशाह की मनमानी और किसी तरह की तानाशाही नहीं चलेगी. विचारों की आजाद दुनिया में किसी पर कोई सोच थोपी नहीं जाएगी.

उन्होंने लिखा है कि सबको अपना स्वराज ढूंढने का हक है. यहां सबसे कमजोर आवाज भी शिद्दत से सुनी जाएगी. इसका मकसद है हर एक इंसान की आवाज की रक्षा. राहुल ने कहा कि सबके पास स्वशासन का अधिकार है और सबसे कमजोर की आवाज भी पूरी एकाग्रता से सुनी जाएगी और इसका भाव यह है कि प्रत्येक व्यक्ति की आवाज की हिफाजत की जाएगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने आगे लिखा है कि अगर हिन्दुस्तान कामयाब हुआ है तो इसका श्रेय सबको जाता है. हमारी ताकत भारत के एक एक जन की आवाज है.यह हमें कभी नहीं भूलना चाहिए. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने आगे कहा, ‘हमें अपनी विरासत के इस संदेश की हिफाजत करनी है और इसके सपनों को पूरा करने में मदद करनी है’

Loading...