बुलंदशहर | चुनाव आते ही नेताओ के विवादित बयान भी शुरू हो गए है. पिछले दो दिनों के अन्तराल में बीजेपी के नेताओ और मंत्रियो ने बेहद ही विवादित टिप्पणी कर चुनावी माहौल को गरमा दिया है. बीजेपी के ज्यादातर नेता हिन्दुओ की वोटो का धुर्विकरण रोकने के लिए लोगो को दंगे और पलायन याद दिला रहे है. ऐसे में बीजेपी के फायरब्रिगेड नेता योगी आदित्यनाथ भला कैसे पीछे रह सकते है.

बुलंदशहर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने लोगो को मुजफ्फरनगर दंगे और बुलंदशहर गैंगरेप की याद दिलाई. उन्होंने कहा की जब आप वोट करे तो दंगो और बलात्कारो को याद जरुर रखना. उन्होंने लोगो से पुछा की क्या आप 1990 में कश्मीरी पंडितो का कश्मीर से पलायन भूल सकते है? क्या आप मुजफ्फरनगर दंगो को भूल सकते है? क्या आप बुलंदशहर गैंगरेप को भूल सकते है? ये सरकार ने केवल दंगे कराती है बल्कि अपराधियों को शरण भी देती है.

योगी आदित्यनाथ ने लोगो की भावनाओ को भड़काते हुए कहा की जब भी मैं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आता हूँ तो एक डर हमेशा सताता है की अगर तुम अब भी नही जागे तो तुम्हे भी दूसरी जगह जाने के लिए तैयार रहना चाहिए. कैराना में हिन्दुओ के पलायन से सरकार चाहे कितना भी मना करे लेकिन हर फैक्ट फाइंडिंग समिति ने अपनी जांच रिपोर्ट में माना है की कैराना से पलायन हुआ है.

योगी आदित्यनाथ ने डोनाल्ड ट्रम्प के मुस्लिम देशो पर प्रतिबंध लगाने के फैसले को सही ठहराते हुए कहा हिंदुस्तान में भी इसी तरह के कार्यवाही की जरुरत है. अगर देश में आतंकवादी गतिविधियों पर रोक लगानी है तो हमें भी इस तरह के कदम उठाने पड़ेगे. समाजवादी और कांग्रेस पार्टी के बीच गठबंधन पर बोलते हुए आदित्यनाथ ने इसे ठगबंधन करार दिया. आदित्यनाथ ने लोगो से बीजेपी की सरकार बनाने की अपील करते हुए कहा की अगर हमारी सरकार आती है तो प्रदेश के सभी बुचडखानों को बंद कर दिया जाएगा.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें