बदले जाने से नाराज केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आखिरकार बेगूसराय से चुनाव लड़ने से मना कर दिया। वो अभी भी नवादा सीट से चुनाव लड़ने पर अड़े हुए हैं।

गिरिराज सिंह का कहना है कि जब किसी भी केंद्रीय मंत्री की सीट नहीं बदली गई तो उनके साथ पार्टी ऐसा क्‍यों कर रही है। उन्‍होंने कहा कि यदि ऐसा करना भी था तो उन्‍हें विश्‍वास में लेना चाहिए था। बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में गिरिराज सिंह नवादा सीट से जीतकर संसद पहुंचे थे। लेकिन इस बार एनडीए गठबंधन के फॉर्मूले के तहत नवादा की सीट एलजेपी के खाते में चली गई है।

Loading...

दूसरी और उम्मीदवारी की घोषणा होने के साथ ही लेफ्ट के उम्मीदवार और जेएनयू के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार ने साफ कर दिया है कि लोकसभा चुनाव में बेगूसराय सीट से उनकी लड़ाई सीधे तौर पर बीजेपी के उम्मीदवार गिरिराज सिंह से है। कन्हैया ने पटना में कहा कि आज की राजनीतिक हालात में जो बेगूसराय की जो तस्वीर है, उसके मुताबिक इस लड़ाई में राजद के उम्मीदवार तनवीर कहीं नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि मुझे बेगूसराय की जनता पर भरोसा है कि वो वहां जीतेगी और नफरत-उन्माद हारेगा। गिरिराज सिंह पर निशाना साधते हुए लेफ्ट नेता ने कहा कि गिरिराज सिंह तो खुद ही बेगूसराय नहीं जाना चाहते हैं और अभी तक दिल्ली में उनके नखरे चल रहे हैं। ऐसे में क्या ये सब बेगूसराय की जनता नहीं देख रही है? उन्होंने कहा कि जो आदमी बेगूसराय को रिजेक्ट कर रहा है, उसे वहां की जनता कैसे एक्सेप्ट करेगी?

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें