Sunday, June 26, 2022

रवि शंकर प्रसाद ने बोले -तेल की कीमतें सरकार के हाथ नहीं, कांग्रेस नेता ने कहा – वो तो अम्बानीज के हाथ में हैं

- Advertisement -

तेल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ विपक्ष के भारत बंद पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि डीजल और पेट्रोल की कीमत का बढ़ना हमारे हाथ में नहीं है। जिन देशों में पेट्रोल उत्पादन हो रहा है वहां पेट्रोलियम पदार्थों के उत्पादन पर सीमाएं है ।

उन्होने बताया, वेनेजुएला में राजनीतिक अस्थिरता बनी हुई है। ईरान-इराक भी अस्थिरता के दौर में हैं।  हमारी सरकार ने महंगाई  को कम करने की कोशिश की और उसमें सफलता भी मिली है। रविशंकर ने कहा, ‘भारत बंद पूरी तरह से फेल हुआ है। भारत बंद में हुई हिंसा का हमें बहुत दुख है, हम इसकी भर्त्सना करते हैं।’

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के इस बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश सिंह ने  करारा पलटवार किया है। उन्होने कहा कि रविशंकर प्रसाद ने सही कहा है। डीजल और पेट्रोल की कीमतें बढ़ाना तो अंबानीज़ और साहेब के मित्रो के हाथ मे है।उन्होने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘सही तो कहा है। क्योंकि ये तो अम्बानीज के और साहेब के मित्रो के हाथ मे है। मई 2019 में कांग्रेस सरकार ले लेगी अपने हाथ में और दे देगी जनता को राहत।’

बता दें कि कांग्रेस के इस बंद का 21 विपक्षी दलों, कई व्यापारिक और समाजिक संगठनों का समर्थन मिला है। कांग्रेस द्वारा बुलाए गए आज भारत बंद में एनसीपी, डीएमके, सपा, जेडीएस, बसपा, टीएमसी, आरजेडी, सीपीआई, सीपीएम, एआईडीयूएफ, नेशनल कांफ्रेंस, झारखंड मुक्ति मोर्चा, झारखंड विकास मोर्चा, आप, टीडीपी, केरल कांग्रेस, आरएसपी, आईयूएमएल, शरद यादव की पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल, राजू शेट्टी की स्वाभिमानी शेतकरी पार्टी और हिंदुस्तान अवाम पार्टी (हम) ने समर्थन दिया।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles