ramgopal-yadav

नई दिल्ली | पिछले एक हफ्ते से समाजवादी पार्टी में मचा घमासान अब चुनाव आयोग के दर पर पहुँच चूका है. दोनों खेमे चाहे वो अखिलेश गुट हो या मुलायम गुट, दोनों पार्टी सिंबल ‘साइकिल’ पर अपना अधिकार जता रहे है. कल मुलायम सिंह ने चुनाव आयोग पहुंचकर अपना पक्ष रखा और चुनाव चिन्ह पर अपना हक़ जताया. आज अखिलेश गुट की तरफ से रामगोपाल यादव चुनाव आयोग पहुंचे. इसी बीच खबर मिली है की अखिलेश , मुलायम सिंह से मिलने उनके आवास पहुंचे है.

आज सुबह रामगोपाल यादव, नरेश अग्रवाल और किरणमय नंदा के साथ चुनाव आयोग पहुंचे. रामगोपाल ने चुनाव आयोग के सामने सारी स्थति स्पष्ट की और उनको बताया की पार्टी के 90 फीसदी विधायक और डेलीगेट्स अखिलेश के साथ है. इसलिए असली समाजवादी पार्टी वो है जहाँ अखिलेश है. उधर किरणमय नंदा ने आरोप लगाते हुए कहा की कोई मुलायम सिंह के फर्जी हस्ताक्षर कर पत्र जारी कर रहा है.

किरणमय नंदा के अनुसार जो पत्र 30 दिसम्बर और 1 जनवरी को जारी किये गए, उन दोनों पत्रों में मुलायम सिंह के हस्ताक्षर अलग अलग है. इससे साफ जाहिर होता है की कोई उनके फर्जी हस्ताक्षर कर हमारे खिलाफ पत्र जारी कर रहा है. इसी बीच खबर मिली की आजम खान एक बार फिर दोनों खेमो के बीच सुलह कराने का प्रयास कर रहे है.

इसके लिए आजम खान ने आज मुलायम से मिलने का समय माँगा लेकिन वो बिना आजम से मिले लखनऊ लौट गए. हालाँकि आजम खान ने सुलह की कोशिशे अभी नही छोड़ी है. आजम ने कहा की दोनों खेमो के बीच सुलह के सभी दरवाजे अभी बंद नही हुए है. मैं अपने प्रयास जारी रखूँगा. सुलह की बात पर प्रतिक्रिया देते हुए नरेश अग्रवाल ने कहा की अब सुलह की कोई गुंजाइश नही है. उधर अखिलेश आज मुलायम से मिलने उनके आवास पहुंचे. दोनों के बीच अभी भी बातचीत जारी है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें