बीजेपी के घोषणापत्र में 40वें पेज पर दिखी राम मंदिर के लिए दिखी सिर्फ दो लाईन

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने सोमवार को लोकसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी करते हुए राम मंदिर के निर्माण का भी जिक्र किया है। बीजेपी ने अपने सबसे पुराने वादे राम मंदिर निर्माण को संकल्प पत्र के 40वें पेज पर जगह दी है। इतना ही नहीं इस राम मंदिर के निर्माण की बात को बीजेपी ने महज 2 लाइन में सीमित कर दिया।

संकल्प पत्र में बीजेपी ने कहा है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण सुनिश्चित कराने के लिए बीजेपी सरकार संविधान की दायरे में रहते हुए हरसंभव विकल्पों को तलाशेगी। संकल्प पत्र में लिखा है, “हम राम मंदिर के मसले पर अपने रुख पर कायम हैं। हम संविधान के दायरे में रहते हुए अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए सभी आवश्यक क़दमों को उठाएंगे।”

राम मंदिर के अलावा घोषणापत्र में सबरीमाला मंदिर के मुद्दे को भी जगह दी गई है।  घोषणापत्र में कहा गया है कि सबरीमाला से जुड़ी आस्था, परम्परा और पूजा पद्धति को बचाए रखने के लिए संवैधानिक सुरक्षा प्रदान की जाएगी। राजनाथ सिंह ने कहा, “इस संकल्प पत्र के माध्यम से हम नए भारत के निर्माण में 130 करोड़ देशवासियों की आकांक्षाओं को विजन डॉक्यूमेंट के रूप में पेश कर रहे हैं।

इस दौरान राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, “2014 का चुनाव आशाओं का चुनाव था, मोदी सरकार के 5 साल के कार्यकाल के बाद 2019 का चुनाव अपेक्षाओं का चुनाव होने वाला है। 2014-19 तक जो यात्रा चली है, इसमें देश का चहुमुखी विकास हुआ है। देश की आशा अब अपेक्षा में बदल चुकी हैं।”

इसी बीच कवि व आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने बीजेपी के मैनिफेस्टो में राम मंदिर निर्माण का एजेंडा शामिल करने पर तंज कसा है। विश्वास का कहना है कि राम मंदिर लगातार 32वें साल भी एजेंडे में शामिल किया है। कुमार ने ट्वीट करके लिखा, ”भगवान राम और हम जैसै उनके चरण-अनुरागियों को बधाई कि उनका मंदिर लगातार 32वें वर्ष भी एजेंडे में जगह पा गया है! बोलिए जय सियाराम”

विज्ञापन