प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राम मंदिर शिलान्यास और भूमि पूजन कार्यक्रम में जाने को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने सख्त आपत्ति जताई है।

ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, ”प्रधानमंत्री का भूमि पूजन में शामिल होना उनके संवैधानिक पद की शपथ का उल्लंघन हो सकता है। धर्मनिरपेक्षता हमारे संविधान के मूल ढांचे का हिस्सा है।” ओवैसी ने कहा, ”हम यह नहीं भूल सकते कि 400 वर्षों से ज्यादा वक्त से बाबरी मस्जिद अयोध्या में थी और 1992 में क्रिमिनल भीड़ ने इसे ध्वस्त कर दिया था।”

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 5 अगस्त को अयोध्या जाने का कार्यक्रम है। यहां पर वह राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने इसके राम मंदिर आंदोलन से जुड़े कई लोगों को न्योता दिया है।

राम मंदिर भूमि पूजन में पीएम मोदी के अलावा, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, लाल कृष्ण अडवाणी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह, संघ प्रमुख मोहन भागवत, राम मंदिर संघर्ष से जुड़े लोग सहित कुल 200 से 300 लोग मौजूद रहेंगे।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano