अबोहर | पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनावो के लिए सभी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. यहाँ तक की अब तो केन्द्रीय मंत्रिमडल भी चुनाव प्रचार में कूद चूका है. लेकिन केन्द्रीय मंत्रियो के लिए पंजाब में राह इतनी आसान नही है. पंजाब में ड्रग्स एक बड़ी समस्या है जिसके लिए लोग बीजेपी-अकाली गठबंधन की सरकार को जिम्मेदार मानते है. इसलिए लोगो के अन्दर इस गठबंधन को लेकर काफी गुस्सा है.

लोगो के इसी गुस्से का शिकार मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बदल को भी हना पड़ा. उनके खुद के विधानसभा क्षेत्र लंबी में उनके ऊपर एक व्यक्ति ने जूता फेंक दिया जो उनके चेहरे पर जाकर लगा. इसकी वजह से प्रकाश सिंह बादल का चश्मा भी टूट गया. यह बात केन्द्रीय गृह मंत्री को अच्छी नही लगी. सोमवार को एक रैली को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा की चुनाव प्रचार में गरिमा बनाकर रखनी चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राजनाथ सिंह ने कहा की पंजाब के सबसे बुजुर्ग और सम्मानीय नेता के ऊपर जूता फेंकने की घटना बेहद ही शर्मसार करने वाली है. आपको वोट नही देना तो मत दो लेकिन जूता फेंकना कहाँ की मर्यादा और इंसानियत है. क्या अब उन पर लाठिया चलाएंगे? राजनाथ सिंह ने अपने संबोधन में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर भी निशाना साधा. उन्होंने कांग्रेस को डूबता जहाज करार दिया. हम इस बार भी चुनाव जीतकर हैट्रिक बनायेगे और पंजाब को एक बार फिर खुशहाली के रास्ते पर ले जायेंगे.

राजनाथ सिंह ने कहा की कांग्रेस भ्रष्टाचार की जननी है. वो देश में अब खत्म हो रही है. इस डूबता जहाज को कैप्टेन साहब कहाँ तक बचा पायेंगे. बेचारे कैप्टेन साहब तो फंस गए. बाकी राज्यों की तरह पंजाब में भी कांग्रेस की हार तय है. पंजाब में अकाली-बीजेपी सरकार ने अभूतपूर्व शासन दिया है. ऐसे में पुरे विश्व की नजर पंजाब चुनावो पर है. इस राज्य में आतंकवाद का दंश झेला है, अब यहाँ अमन है , इसको बहाल रखने के लिए जरुरी है की प्रदेश में ऐसी सरकार आये जो केंद्र सरकार के साथ अच्छे सम्बन्ध बनाकर चले.

Loading...