राजस्थान में विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस प्रदेश की कुल 200 सीटों में से 184 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार चुकी है। हालांकि अब केवल कांग्रेस की और से केवल 9 उम्मीदवार ही उतारे जाएंगे। दरअसल कांग्रेस ने 7 सीटें सहयोगी दलों के लिए छोड़ने का फैसला किया है।

बताया जा रहा है कि रविवार को इन नौ सीटों पर भी प्रत्याशी घोषित कर दिए जाएंगे। नोहर, खंडेला, तिजारा, महुआ, किशनगढ़, जैतारण, पाली, सुमेरपुर और आसींद सीट के लिए प्रत्याशियों की घोषणा कांग्रेस अपनी तीसरी सूची में कर देगी।

शेष बची सात सीटें किशनगढ़बास, कुशलगढ़, नगर, भरतपुर, मालपुरा, मुंडावर और बाली सीटें सहयोगी दलों को देने पर विचार किया जा रहा है। ये सात सीटें एलजेडी, एनसीपी, सपा और आरएलडी के साथ होने वाले गठबंधन के खाते में जाएगी।

इनमें बाली सीट एनसीपी, मुंडावर और मालपुरा आरएलडी, तिजारा सीट सपा, कुशलगढ़ और किशनगढ़बास सीट एलजेडी के खाते में जाएगी। भरतपुर सीट का गठबंधन के खाते में जाना लगभग तय है। लेकिन ये किसके खाते में जाएगी यह फाइनल नहीं हुआ है।

बताया जा रहा है कि इनमें से अब तक पांच सीटों पर सहमति बन चुकी है। कांग्रेस नेताओं की शनिवार रात को होने वाली बैठक में तीसरी सूची पर चर्चा होगी। ध्यान रहे राजस्थान में कांग्रेस ने बड़ा दांव खेलते हुए बीजेपी के पूर्व नेता और अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ झालावाड़ सीट से मैदान में उतारा है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें