kamlesh doshi 620x400

राजस्थान के प्रतापगढ़ के नगर परिषद के सभापति कमलेश डोसी आखिरकार कर्नाटक के बैंगलुरू में मिले. गायब होने के चार दिन बाद डोसी बैंगलुरू के एक अस्पताल में मिले. उन्हे अचेत अवस्था में भर्ती करवाया गया था.

बताया जा रहा है कि उनकी आखिरी लोकेशन मुंबई में ट्रेस की गई थी. वे जैन संत के दर्शन करने घर से निकले थे. 17 मई को वह कुर्ला के रेलवे स्टेशन से रहस्यमयी हालत में लापता हो गए. अचानक वह कैसे गायब हुए थे, इस बारे में अभी कुछ पता नहीं चला है.

पुलिस के मुताबिक, डोसी देर रात साढ़े 11 बजे कुर्ला टर्मिनस गए थे. उन्हें वहां से मध्य प्रदेश के बुरहानपुर के लिए ट्रेन पकड़नी थी. स्टेशन के सीसीटीवी कैमरों में फुटेज से पता चलता है कि उस दिन वह ट्रेन का इंतजार कर रहे थे. उन्होंने उस दौरान पत्नी से फोन पर बात भी की थी, लेकिन कॉल किसी कारण कट गई थी.

मामले की जांच के लिए राजस्थान पुलिस की चार टीमें गठित हुईं हुई थी. तीन उन्हें तलाशने के लिए मुंबई निकलीं, जबकि एक को बुरहानपुर भेजा गया. हालांकि, पुलिस इस बारे में अभी पूरी जानकारी नहीं जुटा पाई है. वहीं, मुंबई की क्राइम ब्रांच भी इस मसले की जांच-पड़ताल कर रही है.

कमलेश डोसी प्रतापगढ़ नगर पालिका के नगर परिषद बनने के बाद पहले सभापति हैं. वह नगर पालिका के अध्यक्ष भी रह चुके हैं. उनके बड़े पिता शांतिलाल डोसी उर्फ गोपी वाइस चेयरमैन रह चुके हैं. उनकी मां भी पार्षद रह चुकी हैं.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें