लखनऊ | उत्तर प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनावो के लिए आज चौथे चरण का मतदान चल रहा है. एक घटनाओं को छोड़कर फ़िलहाल मतदान शांतिपूर्ण चल रहा है. खबर है की महोबा में समाजवादी पार्टी और बसपा समर्थको के बीच फायरिंग हुई है. इसी बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह के एक बयान ने राजनितिक हलको में गर्मी बढ़ा दी. राजनाथ सिंह ने कहा की अगर उनकी पार्टी कुछ मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकेट देती तो अच्छा होता.

टाइम्स नाउ से बात करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा की हम लोगो ने बाकी राज्यों में भी अल्पसंख्यको को टिकेट दिए है. उत्तर प्रदेश में भी कुछ मुस्लिमो को टिकेट देने की बात हुई थी लेकिन हमें कोई भी ऐसा मुस्लिम उम्मीदवार नही मिला जिसको टिकेट दिया जा सके. हालाँकि जब उम्मीदवार तय हुए तो मैं उस मीटिंग में नही था लेकिन मुझे पता चला की संसदीय बोर्ड को कोई भी जीत दर्ज करने लायक मुस्लिम उम्मीदवार नही मिला.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राजनाथ सिंह ने बुधवार को इंटरव्यू के दौरान माना की मुस्लिमो को टिकेट दिया जाना चाहिए था. राजनाथ ने कहा की मैं मानता हूँ की अगर उन्हें टिकेट दिया जाता तो भी बीजेपी को कोई नुक्सान नही होने वाला था. लेकिन ऐसा नही है की हमने उनको टिकेट देना नही चाहा, हमने मुस्लिम उम्मीदवार ढूँढने की कोशिश की लेकीन जीतने लायक उम्मीदवार नही मिला.

मालूम हो की उत्तर प्रदेश में करीब 19 फीसदी मुस्लिम वोटर है. ज्यादातर पार्टिया मुस्लिमो को अपने पक्ष में करने के लिए खूब बयानबाजी कर रही है. मायावती ने तो मुस्लिमो से अपील भी की , की वो समाजवादी पार्टी को वोट दे अपनी वोट ख़राब न करे. लेकिन बीजेपी की तरफ से ऐसा ब्यान कभी नही आया. उन्होंने पहले कहा था की हम धर्म के आधार पर टिकेट वितरण नही कर रहे है. इससे पहले राजनाथ सिंह समाजवादी-कांग्रेस गठबंधन पर भी बयान दे चुके है. उन्होंने कहा था की अगर यह गठबंधन न होता तो बीजेपी सूबे में 300 सीट जीतती.

Loading...