लखनऊ | समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के बीच , पार्टी के कई विधायक अपने भविष्य को लेकर चिंतित है. काफी विधायको को लगता है की पार्टी के दो गुटों में बंटने के बाद उनका दोबारा विधायक बनना आसान नही होगा. यही वजह है की कुछ विधायक पाला बदल किसी दुसरे दल में जाने की फ़िराक में है. खबर है की समाजवादी पार्टी के करीब 45 विधायक बीजेपी में शामिल हो सकते है.

सूत्रों से मिली खबर के अनुसार समाजवादी पार्टी के कई विधायको ने बीजेपी के प्रदेश प्रभारी ओम माथुर और प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या के साथ बैठक की है. इसके अलवा इन विधायको ने बीजेपी के राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह के साथ भी मुलाकात की है. बस प्रधानमंत्री मोदी की हरी झंडी का इन्तजार किया जा रहा है. जैसे ही मोदी से मंजूरी मिलेगी, सभी विधयाको को बीजेपी ज्वाइन करा दी जायेगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इन 45 विधायको में जो नाम सबसे चौकाने वाला है, वो है , रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया का. उत्तर प्रदेश सरकार में जेल मंत्री रहे राजा भैया को मुलायम सिंह का बेहद ही करीबी माना जाता रहा है लेकिन पार्टी के दो गुटों में बंट जाने के बाद राजा भैया भी यह तय नही कर पा रहे की वो किस गुट का समर्थन करे. हालांकि राजा भैया , कई मामलो को लेकर अखिलेश सरकार से असंतुष्ट भी चल रहे थे.

राजा भैया के बाद जो दूसरा सबसे बड़ा नाम है सामने आ रहा है , वो है , पूर्व मंत्री महेंद्र अरिंदमन सिंह का. महेंद्र सिंह और राजा भैया दोनों इन विधायको का नेतृत्व कर रहे है. इन विधायको को बीजेपी में शामिल कराने के एवज में राजा भैया की क्या डील हुई होगी , यह तो आने वाला समय ही बतायेगा लेकिन एक बात तय है की चुनाव जीतने के लिए कोई भी पार्टी किसी भी हद तक जा सकती है.

उधर इन विधायको के पार्टी ज्वाइन करने के बाद , बीजेपी में भी असंतुष्टो की संख्या बढ़ सकती है. कुछ ऐसा नेता बीजेपी के लिए बाधक बन सकते है जो उन क्षेत्रो से खुद चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन अब उनकी जगह समाजवादी पार्टी के विधायको को टिकेट दे दिया जाएगा.

Loading...