Friday, September 24, 2021

 

 

 

राज ठाकरे का दावा – लोकसभा चुनाव जीतने के लिए फिर हो सकता है पुलवामा जैसा हमला

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली:  महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) के प्रमुख राज ठाकरे ने केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार को राष्ट्रवाद के मुद्दे पर निशाने पर लेते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले कुछ महीनों के अंदर पुलवामा जैसा हमला संयोजित किया जा सकता है।

राज ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान को ‘जवानों का अपमान’ करार दिया जिसमें उन्होंने कहा कि अगर राफेल विमान होता तो पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी शिविर पर वायु सेना द्वारा 26 फरवरी के एयर स्ट्राइक में और अधिक गोलाबारी हो सकती थी।

उन्होंने कहा, ‘मेरी बात याद रखना, एक और पुलवामा जैसा हमला अगले दो महीनों में सुनियोजित किया जाएगा। लोकसभा चुनाव के दौरान लोगों की समस्याओं से देशभक्ति की ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए किया जाएगा।’ उन्होंने कहा, ‘झूठ बोलने की भी कोई सीमा होती है। चुनाव जीतने के लिए झूठ बोला जा रहा है। चुनाव जीतने के लिए अगले एक दो महीने में पुलवामा के समान एक और हमला होगा।’

भारत और चीन के बीच 2017 में डोकलाम पर चले गतिरोध का हवाला देते हुए ठाकरे ने कहा कि प्रधानमंत्री ने नागरिकों से कहा था कि वह चीनी उत्पादों से दूर ही रहें हालांकि, वह यह बताने में विफल रहे कि गुजरात में सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा में इस्तेमाल किया गया सामान कहां से आया था। उन्होंने कहा, ‘…..वास्तविक दुश्मन देश के बाहर है अथवा देश के अंदर.’ पठानकोट में 2015 में हुए हमलों को चुनाव से जोड़ते हुए ठाकरे ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने दिसंबर में पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की थी और उन्हें उनके जन्मदिन पर एक केक दिया था।

इससे पहले भी पुलमावा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों को ‘राजनीतिक शिकार’ करार देते हुए राज ठाकरे ने दावा किया था कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल से पूछताछ करने पर सच्चाई सामने आ जाएगी। प्रधानमंत्री पर हमलावर तेवर अख्तियार करते हुए ठाकरे ने कहा, पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवान ‘राजनीतिक शिकार’ बने और हर सरकार ने इस तरह की चीजें गढ़ीं, लेकिन नरेंद्र मोदी के शासन में यह अक्सर हो रहा है।’

ठाकरे ने पीएम मोदी के उस बयान को जवानों के लिए अपमानजनक बताया जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर हमारे पास राफेल होता तो हम पाकिस्तान को और बेहतर तरीके से जवाब दे सकते थे। बता दें कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आत्मघाती आतंकवादी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles