lenin

त्रिपुरा में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत के बाद वामपंथी विचारक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति गिराए जाने का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस मामले में पहले ही पार्टी अध्यक्ष अमित शाह बयान देकर इस कृत्य को गलत ठहरा चुके है. हालांकि बीजेपी नेताओं का इसका कोई असर नहीं हुआ है.

महाराष्ट्र में बीजेपी के वरिष्ठ नेता राज पुरोहित ने भी कहा है कि वह लेनिन की मूर्ति गिराए जाने से बेहद खुश हैं. उन्होंने मूर्ति को पुतला बताते हुए कहा कि लेनिन का पुतला अपमान का प्रतीक है और उनके जितने भी पुतले हों, सभी गिरा देने चाहिए.

इससे पहले बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा था कि ‘लेनिन तो विदेशी है, एक प्रकार से आतंकवादी है, ऐसे व्यक्ति की मूर्ति हमारे देश में क्यों? वे कम्युनिस्ट पार्टी के मुख्यालय के अंदर मूर्ति रख सकते हैं और पूजा कर सकते हैं.’ इसके बाद बीजेपी नेता राम माधव और त्रिपुरा के राज्यपाल तथागत रॉय ने भी इसे जायज ठहरा दिया.

अमित शाह

बता दें कि इस मामले को लेकर अमित शाह ने कहा कि मैने त्रिपुरा और तमिलनाडु में पार्टी यूनिट पर बात की है. उन्‍होंने कहा कि पार्टी का कोई भी व्‍यक्ति अगर मूर्ति को नष्‍ट करने से जुड़ा पाया जाएगा तो पार्टी उसके  खिलाफ गंभीर कार्रवाई करेगी. उन्‍होंने कहा कि भाजपा हमेशा खुलेपन और रचनात्मक राजनीति के आदर्शों के लिए प्रतिबद्ध है, जिसके जरिए हम लोगों के जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं और साथ ही साथ नई भारत का निर्माण भी कर सकते हैं.

वहीँ केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि इस मामले में पीएम मोदी ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बात की है और इस तरह की घटनाओं को लेकर रोष व्यक्त किया है. मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि पीएम मोदी देश में इस तरह की घटनाओं को बर्दाश्त नहीं करेंगे. मंत्रालय ने इस घटना में शामिल सभी आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें